scorecardresearch
 
पर्व-त्यौहार

Hanuman Jayanti 2021: हनुमान जयंती पर आज भूलकर भी ना करें ये 10 गलतियां

हनुमान जयंती 1
  • 1/11

हनुमान जयंती चैत्र मास के शुक्ल पक्ष पूर्णिमा को मनाई जाती है मनाई जाती है. हनुमान को सबसे दयालु और प्रसन्न होने वाला देव समझा जाता है. हालांकि अगर उनकी पूजा अर्चना में लापरवाही की जाए तो वह जल्दी ही क्रोधित भी हो जाते हैं. इस बार हनुमान जयंती 27 अप्रैल को मनाई जा रही है. आइए आपको बतात हैं हनुमान जयंती पर कौन से 10 काम करने से परहेज करना चाहिए.

हनुमान जयंती 2
  • 2/11

1. बहुत कम ही लोग इस बात को जानते हैं कि हनुमान जी की पूजा में कभी भी चरणामृत का प्रयोग नहीं किया जाता है. इसलिए पूजा के वक्त ऐसा करने से बचें.

हनुमान जयंती 3
  • 3/11

2. हनुमानजी की पूजा उस समय वर्जित मानी जाती है जब सूतक लगा हो. सूतक तब माना जाता है जब परिवार में किसी की मृत्यु हो जाए. सूतक के 13 दिनों में हनुमान जी पूजा नहीं करनी चाहिए.

हनुमान जयंती 4
  • 4/11

3. हनुमान जी की पूजा करने वाले भक्त को मंगलवार या हनुमान जयंती के व्रत वाले दिन नमक का सेवन नहीं करना चाहिए. साथ ही इस बात का भी ध्यान रखें कि दान में दी गई वस्तु, विशेष रूप से मिठाई का स्वयं सेवन न करें.

हनुमान जयंती 5
  • 5/11

4. हनुमान जी की पूजा करते समय काले और सफेद रंग के कपड़े ना पहनें. बजरंगबली की पूजा में लाल और पीले रंग के वस्त्र धारण करना शुभ होता है.

हनुमान जयंती 6
  • 6/11

5. हनुमानजी की पूजा करते समय ब्रह्राचर्य व्रत का पालन करना आवश्यक होता है. इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि हनुमान जी बाल ब्रह्मचारी होने की वजह से स्त्रियों के स्पर्श से दूर रहते थे. ऐसे में पूजा के दौरान स्त्रियों को हनुमान जी को स्पर्श नहीं करना चाहिए.

हनुमान जयंती 7
  • 7/11

6. हनुमान जयंती पर खंडित और टूटी हुई मूर्ति की पूजा बिल्कुल ना करें. अगर हनुमान जी की कोई तस्वीर फटी हुई है तो उसे हटा दें.

हनुमान जयंती 8
  • 8/11

7. हनुमान जयंती पर भूलकर भी मांस और मदिरा का सेवन नहीं करना चाहिए.

हनुमान जयंती 9
  • 9/11

8. हनुमान शांति प्रिय आसानी से प्रसन्न होने वाले देव हैं. इसलिए घर में बिल्कुल भी कलह ना करें. अशांति से शनि प्रकोप बढ़ सकता है.

हनुमान जयंती 10
  • 10/11

9. दिन के वक्त सोने से परहेज करें. संभव हो तो हनुमान चालीसा का पाठ करें.

हनुमान जयंती 11
  • 11/11

10. इस दिन शारीरिक संबंध बनाने से परहेज करें और हनुमान की सच्चे मन से उपासना करें.