scorecardresearch
 

Tabassum Mirza resigns : राजस्थान में बीजेपी पार्षद का इस्तीफा, पैगंबर मोहम्मद पर नूपुर शर्मा के बयान से थीं नाराज

तबस्सुम मिर्जा 10 साल पहले बीजेपी में शामिल हुई थीं. वे कोटा के वार्ड 14 की पार्षद हैं. उन्होंने सोमवार को बीजेपी से इस्तीफा दे दिया. इस दौरान उन्होंने कहा, मौजूदा हालातों में पार्टी में काम करना संभव नहीं है.

X
नूपुर शर्मा के बयान को लेकर विवाद लगातार जारी है. नूपुर शर्मा के बयान को लेकर विवाद लगातार जारी है.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कोटा में वार्ड 14 की पार्षद हैं तबस्सुम मिर्जा
  • तबस्सुम मिर्जा ने प्रदेश अध्यक्ष और जिला अध्यक्ष को भेजा इस्तीफा

नूपुर शर्मा द्वारा पैगंबर मोहम्मद पर दिए बयान को लेकर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. अब राजस्थान में बीजेपी की एक महिला पार्षद ने नूपुर शर्मा की टिप्पणी के विरोध में पार्टी से इस्तीफा दे दिया. 

तबस्सुम मिर्जा बीजेपी से कोटा में वार्ड 14 की पार्षद हैं. उन्होंने सोमवार को पार्टी प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया और जिला अध्यक्ष कृष्ण कुमार सोनी को अपनी इस्तीफा भेजा है. इसमें उन्होंने इस्तीफे का कारण भी बताया है. 

10 साल पहले बीजेपी में शामिल हुई थीं मिर्जा 

तबस्सुम मिर्जा 10 साल पहले बीजेपी में शामिल हुई थीं. जिला अध्यक्ष को लिखे पत्र में मिर्जा ने कहा, वे पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे रही हैं. उन्होंने लिखा, मौजूदा हालातों में पार्टी में काम करना संभव नहीं है. वहीं, सतीश पूनिया को लिखे पत्र में मिर्जा ने बीजेपी की सदस्य होने पर दुख जताते हुए कहा कि बीजेपी अपने कार्यकर्ताओं को नियंत्रित करने में विफल रही, जो नबी की आलोचना कर रहे हैं.  

उन्होंने कहा, अगर वे बीजेपी की सदस्य रहती हैं और पैगंबर के खिलाफ होने के बावजूद मैं पार्टी का समर्थन करूं तो मुझसे बड़ा अपराधी कोई नहीं होगा. ऐसे में मैं अब इस पार्टी के साथ रहकर काम नहीं कर सकती. उन्होंने ईमेल और पोस्ट के जरिए इस्तीफा देने का ऐलान किया. 

क्या है विवाद?

दरअसल, बीजेपी से निलंबित हो चुकीं नूपुर शर्मा ने एक टीवी डिबेट में पैगंबर मोहम्मद को लेकर विवादित बयान दिया था. इसके बाद से विवाद जारी है. यहां तक कि कुवैत, कतर, सऊदी अरब,  ओमान, यूएई, जॉर्डन, अफगानिस्तान, पाकिस्तान, बहरीन, ईरान समेत कई मुस्लिम देशों ने बयान जारी कर इसे लेकर निंदा की थी. इसके बाद बीजेपी ने नूपुर शर्मा को निलंबित कर दिया था. 

वहीं, दिल्ली पुलिस ने नूपुर शर्मा, नवीन जिंदल समेत 32 नेताओं पर केस दर्ज किया है. इसके बावजूद शुक्रवार को नूपुर शर्मा के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर दिल्ली, रांची, लखनऊ, कोलकाता, प्रयागराज समेत देश के तमाम हिस्सों में विरोध प्रदर्शन हुए. प्रदर्शन के दौरान कई जगहों पर हिंसा भी हुई. 
 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें