scorecardresearch
 

ईद पर लाउडस्पीकर लगाने पर सहमति, फिर आधी रात पथराव... जानें जोधपुर में कैसे बढ़ा बवाल

राजस्थान के जोधपुर में ईद पर भड़की हिंसा पर सियासत तेज हो गई है. इस झगड़े की शुरुआत झंडे और लाउडस्पीकर लगाए जाने से हुई. आधी रात के समय भी पथराव हुआ था. फिर सुबह आज बवाल भड़क उठा.

X
जोधपुर में उपद्रवियों ने बाइकें भी जलाई (फोटो- पीटीआई) जोधपुर में उपद्रवियों ने बाइकें भी जलाई (फोटो- पीटीआई)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • ईद के दिन सुलगा जोधपुर
  • झंडा लगाए जाने से हुई शुरुआत

Jodhpur Violence: भाईचारे का प्रतीक माने जाने वाले ईद के दिन राजस्थान का जोधपुर शहर सुलग उठा. जोधपुर में ईद की नमाज के बाद झड़प हुई. बड़ी तादाद में उपद्रवी सड़कों पर उतर आए और गाड़ियों में आग लगा दी. दुकानों में भी तोड़फोड़ की गई और लोगों के साथ मारपीट की घटनाएं भी हुईं. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने हाईलेवल मीटिंग कर कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए जरूरी कदम उठाने के निर्देश दिए हैं.

सूबे के गृह मंत्री को भी सीएम ने जोधपुर जाने के निर्देश दिए हैं. भारतीय जनता पार्टी ने सरकार और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने गहलोत सरकार पर तुष्टिकरण का आरोप लगाया और कहा कि सीएम का अपना शहर जल रहा था और वे अपने जन्मदिन का जश्न मना रहे थे. जोधपुरी हिंसा को लेकर सूबे की सियासत भी गर्म होती नजर आ रही है. आइए, नजर डालते हैं इस हिंसा की शुरुआत से लेकर अब तक के घटनाक्रम पर...

> जोधपुर के जालोरी गेट पर दो दिन पहले परशुराम जयंती पर भगवा झंडा लगा था.

> 2 मई की शाम प्रशासन की मीटिंग में बाजार में तय हुआ कि 3 मई को ईद है और इसलिए यहां हर साल की तरह ईद मनाने दी जाए. ईद पर मुसलमान हर साल की तरह झंडा और लाउडस्पीकर लगाएंगे. यह परमिशन एक दिन के लिए थी और बीजेपी के नेताओं और नगर निगम ने भी इसे लेकर सहमति जताई.

> 2 मई की शाम 7 बजे चांद-तारे लगे ईद के झंडे और लाउडस्पीकर लगा दिए गए.

> रात को शहर में अफवाह फैली की पाकिस्तान के झंडे लग गए हैं. दो निजी चैनल के पत्रकार मौके पर गए.

> रात 12 बजे दोनों निजी चैनल के पत्रकारों ने शहर की मेयर विनीता सेठ और बीजेपी के नेताओं को फोन किए कि स्वतंत्रता सेनानी की मूर्ति का चेहरा मुसलमानों ने काले टेप से पैक कर दिया है.

> रात 12 बजे बड़ी संख्या में बीजेपी के लोग मौके पर पहुंचे और मुसलमानों के ईद के झंडे उखाड़ दिए, लाउडस्पीकर नोच डाले.

> यह वीडियो मुस्लिमों में वायरल हुआ तो रात एक बजे बड़ी संख्या में जालौरी गेट पहुंचे और पथराव हुआ.

> रात 1 से 2 बजे तक भीड़ को काबू करने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज किए और आंसू गैस के गोले छोड़े.

> प्रशासन ने बीजेपी नेताओं और मुसलमानों के बीच सुलह करा दिया और तय हुआ कि सुबह की नमाज शांति से होगी.

> सुबह साढ़े आठ बजे मुसलमान ईद की नमाज़ पढ़ने आए तो वहां भगवा झंडा लगा था जिसको लेकर लोगों ने नाराजगी जताई.

> साढ़े आठ बजे युवकों ने पथराव कर कई गाड़ियों के शीशे तोड़ दिए.
प्रशासन ने भगवा झंडा हटाकर तिरंगा लगा दिया.

> दिन में 10 बजे बीजेपी के नेता पहुंचे और विरोध जताया. केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने हनुमान चालीसा का पाठ किया.
> मुस्लिम इलाकों में दोपहर तक प्रदर्शन चलते रहे. ये बात फैली कि जानबूझकर ईद खराब की गई है, मनाने से रोकी गई है.

> दिन में 2 बजे मुस्लिम बाहुल्य 10 थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू लगा दिया गया.

सीएम ने स्थगित किए जन्मदिन के कार्यक्रम

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जोधपुर हिंसा के बाद अपने जन्मदिन पर आयोजित कार्यक्रम स्थगित कर दिए हैं. सीएम ने डीजीपी समेत शीर्ष अधिकारियों के साथ हाईलेवल मीटिंग की और कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए जरूरी हर कदम उठाने के निर्देश दिए है. गहलोत ने प्रदेश के गृह मंत्री के साथ ही जोधपुर के प्रभारी मंत्री को हेलिकॉप्टर से वहां जाने के निर्देश दिए हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें