scorecardresearch
 

स्पेशल रिपोर्ट

मोदी सरकार को घेरने की विपक्ष की चौतरफा तैयारी! जानिए क्या है प्लान

26 जुलाई 2021

किसान नेता राकेश टिकैत ने शक्ति प्रदर्शन की नई तारीख और नए प्लान का एलान कर दिया. किसान आंदोलन के समर्थन में और केंद्र सरकार के खिलाफ ट्रैक्टर चलाकर राहुल गांधी. संसद से चंद कदम दूर जंतर-मंतर पर आधी आबादी ने किसानों के हक में अपनी आवाज बुलंद की. कथित जासूसी कांड पर बंगाल में ममता बनर्जी ने बड़ा फैसला लिया और विपक्ष एकता मिशन पर राजधानी दिल्ली पहुंच गई है. इन चार तस्वीरों को एक लाइन में समझे तो चारों तरफ से मोदी सरकार के खिलाफ नाकेबंदी की गई. से सड़क तक जंग का एलान किया गया. देखें वीडियो.

इन राज्यों में राहत की बारिश बनी भारी आफत? देखें तस्वीरें

25 जुलाई 2021

बारिश ने पहाड़ों से लेकर मैदानी इलाकों के लोगों के सामने लिए बड़ी मुश्किलें लाकर खड़ी कर दी. एक तरफ जहां पहाड़ों पर लोग भूस्खलन से जान गंवा रहे हैं तो दूसरी तरफ मैदानी इलाकों में बाढ़ ने कहर मचा रखा है. दरभंगा में बाढ़ के पानी से कुशेश्वरस्थान के लोग परेशान तो मध्य प्रदेश के कई जिले भी बाढ़ से त्रस्त हैं. सबसे बुरी हालात में महाराष्ट्र है जहां बारिश और बाढ़ से अबतक तकरीबन 112 लोग जान गंवा चुके हैं. इन सबके अलावा कर्नाटक से लेकर तेलंगाना तक में मौसम ने अपना कहर बरपा रखा है. देखें वीडियो.

हकीकत में तब्दील होने जा रहा है स्पेश टूरिज्म का सपना! जानिए कैसे

24 जुलाई 2021

टूरिज्म अब एक हकीकत बन रहा है. अरबपति रिचर्ड ब्रैनसन की कंपनी वर्जिन गैलेक्टिक ने स्पेस के प्राइवेट टूर का सपना सच कर दिखाया. ब्रैनसन के बाद अमेजन के फाउंडर जेफ बेजोस भी स्पेस में सैर सपाटा करके लौटे हैं. तो मान लीजिए कि अंतरिक्ष के एक नये प्राइवेट बिज़नेस मॉडल की शुरुआत हो चुकी है. कल्पना से आगे. दुनिया की टॉप ई-कॉमर्स कंपनियों में शामिल अमेजन के फाउंडर जेफ बेजोस की हैं. बेजोस अंतरिक्ष की 11 मिनट की यात्रा करके धरती पर लौट आए हैं, इस सफर पर उनके साथ 3 और यात्री थे. जेफ बेजोस से पहले अरबपति रिचर्ड ब्रैनसन के वर्जिन गैलेक्टिक कंपनी ने स्पेस टूरिज्म की शुरुआत की थी.देखें वीडियो.

लाखों लोग प्रभावित, हजारों हुए बेघर, महाराष्ट्र से स्पेशल रिपोर्ट

23 जुलाई 2021

मॉनसून की बारिश महाराष्ट्र में लोगों के लिए बड़ी मुसीबत बन गई. 80 लाख लोग बारिश से आई बाढ़ से प्रभावित हैं. हजारों लोगों को बारिश ने बेघर कर दिया. लेकिन खतरा अभी टला नहीं हैं. मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि अगले 48 घंटे महाराष्ट्र के कई जिलों में रिकॉर्डतोड़ बारिश की संभावना है. आखिर महाराष्ट्र में बारिश के ब्रेक फेल के पीछे क्या कोई बड़ा खतरा है? क्या बड़ी तबाही का ट्रेलर है जो बाढ़ और भूस्खलन की शक्ल में महाराष्ट्र में दिखा? देखें स्पेशल रिपोर्ट.

स्पेशल रिपोर्ट : लाल क‍िला पर ह‍िंसा करने वाले क‍िसान थे? ट‍िकैत ने बताया

22 जुलाई 2021

आज सिंघु बॉर्डर से 5 बसों में भरकर किसान दिल्ली के जंतर-मंतर पहुंचे. जंतर मंतर पर अक्सर धरना प्रदर्शन होते रहते हैं. किसानों ने भी यही जगह चुनी सरकार से अपनी बात मनवाने के लिए. प्रदर्शन वाली जगह से देश की संसद भी महज 2 किलोमीटर दूर है. जंतर मंतर पर किसानों का प्रदर्शन और नारेबाजी की. विपक्ष ने भी इस पर केंद्र सरकार को जमकर घेरा और संसद में बहुत हंगामा किया. इस बारे में आजतक से एक्सक्लूसिव बात की किसान नेता राकेश टिकैत ने. टिकैत ने कई मुद्दों पर बात की और कई सवालों के जवाब भी दिए. देखें स्पेशल रिपोर्ट.

क्या UP और गुुजरात चुनाव पर भी है ममता बनर्जी की नजर? देखें स्पेशल रिपोर्ट

21 जुलाई 2021

ममता ने विपक्ष की दूसरी पार्टियों के नेताओं से एक प्लेटफॉर्म पर आने के लिए मीटिंग का न्योता दिया. 2024 में बचे तीन साल का इस्तेमाल आगे की रणनीति के लिए करना होगा। विपक्ष की एकजुटता दिखाने के लिए. कोलकाता के ब्रिगेड परेड मैदान में दूसरी पार्टियों के नेताओं के साथ रैली करेगी. ममता ने तो यहां तक ऐलान कर दिया कि अगर उनका फोरम सत्ता में आता है तो पूरे देश को मुफ्त में राशन दिया जाएगा. इसके अलावा ममता बनर्जी की नजरें उत्तर प्रदेश और गुजरात के चुनाव पर भी है. खबर है कि वे समाजवादी पार्टी के पक्ष में प्रचार कर सकती है, तो गुजरात में चुनाव लड़ने की रणनीति पर भी काम कर रही हैं. देखें वीडियो.

आखिर क्यों जासूसी कांड पर मचा हुआ है इतना हंगामा? जानिए स्पेशल रिपोर्ट में

20 जुलाई 2021

ससंद से सड़क तक केंद्र सरकार और विपक्ष में आर-पार की टक्कर हैं,मुद्दा कथित जासूस कांड है. एक तरफ BJP है और दूसरी तरफ कांग्रेस, आम आदमी पार्टी,TMC, लेफ्ट,बहुजन समाज पार्टी, समाजवादी पार्टी है. गृहमंत्री अमित शाह ने आरोपों पर सफाई देते हुए कहा विघटनकारी शक्तियां का षड्यंत्र कामयाब नहीं होगा।आरोपों की टाइमिंग और आरोप लगाने वालों को कटघरे में खड़ा करते हुए क्रोनोलोजी समझाई थी. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने पलटवार किया. जासूसी हुई या नहीं इसी बात को लेकर केद्र सरकार और विपक्ष एक दूसरे के आमने सामने हैं. देखें वीडियो.

बीजेपी बनाम विपक्षी दलों में तब्दील हुआ फोन हैकिंग पर मचा सियासी घमासान

19 जुलाई 2021

एक न्यूज वेबसाइट के मुतकाबिक कि सरकार एक इसरायली कंपनी एनएसओ ग्रुप के पेगैसस स्पाइवेयर के जरिए देश में 300 लोगों के फोन हैक करा रही थी. दरअसल एक डेटाबेस लीक हुआ. इसमें 300 वेरिफाइड भारतीयों के मंबर शामिल हैं. इन 300 भारतीयों में आरोप है कि मंत्रियों, विपक्ष के नेताओं, वैज्ञानिकों, पत्रकारों, कानून जगत से जुड़े लोग, उद्योगपतियों और सामाजिक कार्यकर्ताओं के नाम शामिल हैं. खबर ये भी है इन नामों में राहुल गांधी समेत कई बड़े विपक्षी नेताओं के नाम भी शामिल हैं. मीडिया रिपोर्ट का दावा है कि संदिग्ध फोन नंबर पर फोरेंसिक जांच की गई. 37 फोन में पेगैसस स्पाइवेयर की हैकिंग का सबूत मिला. इनमें से 10 फोन भारतीय नागरिकों के हैं. टेकनिकल अनैलिसिस के बाद ही ये साबित हो पाया कि इन फोन नंबर्स की हैकिंग की गई. देखें वीडियो.

अफगानिस्तान में फिर लौटा तालिबान राज, कई अहम इलाकों पर कट्टरपंथियों का कब्जा

18 जुलाई 2021

अफगानिस्तान एक बार अपने अस्तित्व की लड़ाई लड़ रहा है. 20 सालों तक अमेरिका तालिबान के खिलाफ अगुवाई कर रहा था. अब अफगान फौजें सिर्फ खुद के दम पर तालिबान से जूझ रही हैं, अमेरिकी फौजों की वापसी के साथ ही अफगानिस्तान में जगह जगह जंग के मैदान खुल गए हैं. अफगान सेना की कई चौकियां, बाजार, सड़कें और सेना के बड़े अड्डे तालिबान के कब्जे में जा चुके हैं. दावा ये भी किया जा रहा है अफगानिस्तान सरकार के खिलाफ लड़ाई में पाकिस्तान भी तालिबान की मदद कर रहा है. इस खास एपिसोड में जानिए कैसे अफगानिस्तान में तालिबान की फिर से वापसी हुई है.

पूर्वोत्तर राज्यों में फिर से बढ़े कोरोना के मामले, स्वास्थ्य मंत्रालय की बढ़ी चिंता

17 जुलाई 2021

कोरोना के नए नए वैरिएंट. लोगों की लापरवाही और भीड़भाड़ जहां तीसरी लहर की आशंका को पुख्ता कर रही है वहीं सरकार वैक्सीनेशन पर पूरा जोर लगा रही है. स्ट्रैटजी ये है कि ज्यादा से ज्यादा लोगों को वैक्सीनेट कर उन्हें कोरोना से सुरक्षित किया जाए. उधर, स्वास्थ्य मंत्रालय ने देश के कई जिले, खासकर पूर्वोत्तर राज्यों में कोरोना के बढ़ते मामलों पर चिंता जताते हुए लोगों को आगाह भी किया है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है बच्चों पर कोरोना के खतरे को देखते हुए उन्हें इस महामारी से बचाने के लिए सही प्लानिंग की जरूरत है. देखें ये वीडियो.

कांग्रेस में RSS प्रेमी नेता कौन? देखें, राहुल गांधी के बयान के क्या हैं मायने

16 जुलाई 2021

आज राहुल गांधी ने 23 सेकंड में एक तीर से दो निशाना लगाए, एक तीर अपनी पार्टी पर चलाया तो दूसरा RSS पर. राहुल गांधी ने कहा कि 'बहुत लोग है जो डर नहीं रहे हैं, जो हमारे यहां डर रहे है उनको बाहर निकालो, चलो भइया जाओ,आरएसएस के हो जाओ भागो नहीं चाहिए, हमें निडर लोग चाहिए,ये हमारी विचाधार है, हमारा संदेश है'. सरल शब्दों में अपने विचारों के DNA के बारे में राहुल बोले. राहुल ने 5 बड़ी बातें कांग्रेस सोशल मीडिया सेल के लिए नियुक्त किए गए वालंटियर्स को संबोधित करते हुए कहीं. आज स्पेशल रिपोर्ट में हम राहुल गांधी के बयान से हम कांग्रेस की मौजूदा स्थिती को करीब से समझेंगे. साथ ही बात करेंगे प्रियंका गांधी के लखनऊ दौरे की और पंजाब कांग्रेस में चल रहे घमासान की.

वाराणसी से चुनावी संदेश, देखें कैसे पीएम मोदी ने सेट किया 2022 का एजेंडा

15 जुलाई 2021

आज प्रधानमंत्री मोदी ने उत्तरप्रदेश चुनाव को लेकर अपने पत्ते खोल दिए,अपने मुद्दे बता दिए. मोदी ने 32मिनट के भाषण से एक साथ तीन मोर्चों को मैसेज दे दिया. 2022 से पहले मोदी का आज का भाषण अहम है. मोदी की भाषा,मोदी के वस्त्र, मोदी के सियासी अस्त्र...सबकुछ काशी में दिखा. प्रधानमंत्री आज अपने संसदीय क्षेत्र में थे,जो तस्वीरें सामने आई उन दृश्यों की परछाई 2022 तक नजर आई. काशी की धरती से नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मौजूदगी में 2022 का चुनावी एजेंडा सेट कर दिया. सरल शब्दों में कहें तो मोदी ने अपने संगठन,अपने वोटरों और विरोधियों को एक साथ सीधा संदेश दे दिया. किन मुद्दों पर लड़ेंगे, और किसके चेहरे पर लड़ेंगे, सबकुछ साफ कर दिया. आज स्पेशल रिपोर्ट में आपको दिखाएंगे कि 32 मिनट के भाषण में पीएम मोदी ने कैसे सेट किया 2022 का एजेंडा.

प्रशांत किशोर की राहुल से मीटिंग के पीछे का पवार प्लान क्या है? देखें स्पेशल रिपोर्ट

14 जुलाई 2021

चुनावी रणनीति के चाणक्य प्रशांत किशोर पहले शरद पवार से मिलते हैं, फिर कैप्टन से मिलते हैं और फिर राहुल गांधी से मिलते हैं. मीटिंग पर मीटिंग चल रही है. अंदर से खबर आती है कि 2024 के लिए मोदी को चुनौती देने के लिए मोर्चा तैयार हैं, अब ऑल इज वेल हैं. लेकिन मॉनसून सत्र में अधीर रंजन को बदला जाए या नहीं इसी पर कांग्रेस अभी माथापच्ची कर रही है. वहीं दूसरी ओर कैप्टन अमरिंदर सिंह और सिद्धू के शीतयुद्ध में बार-बार कांग्रेस सीजफायर का दावा करती है.लेकिन यहां भी सबकुछ उलझा हुआ है. सिद्धू आम आदमी पार्टी की तरीफ में कसीदें पढ़ रहे हैं और केजरीवाल बार-बार सिद्धू प्रेम की गंगा बहा रहे हैं. देखें वीडियो.

स्पेशल रिपोर्ट: पंजाब, UP से लेकर बंगाल तक, सियासत में का पारा हाई!

13 जुलाई 2021

आज स्पेशल रिपोर्ट में बात देश के उन मुद्दों की जिनपर सियासत में ठन गई है. पंजाब में सिद्धू के ट्वीट से पता चला कि बात अभी बनी नहीं बल्कि कैप्टन से ठनी हुई है. उत्तर प्रदेश में हम दो हमारे दो पर बीजेपी बनाम ऑल पार्टी के बीच ठन गई है, बंगाल में बीजेपी के अंदर टीएमसी से आए हुए नेता और पार्टी के पुराने नेताओं में खुल्लम खुल्ला ठन गई. वहीं, महाराष्ट्र में बीजेपी के अंदर सबकुछ ठीक नहीं है. आज हम आपको सियासत की इसी नई पिक्चर के बारे में बताएंगे. पंजाब कांग्रेस में सिद्धू के ट्वीट से बात निकली तो दूर तक गई. हाजिर जवाब सिद्धू ने निशाना तो आप पर साधा लेकिन शब्दों के मजमून में कांग्रेस के लिए मैसेज छिपा था. वहीं, उत्तर प्रदेश में योगी के हम दो हमारे दो वाले मसौदे ने देशभर में महाभारत छेड़ दी. बीजेपी सरकार बढ़ती आबादी को रोकने के लिए आर-पार की जंग का दावा कर रही है. देखिए स्पेशल रिपोर्ट का ये एपिसोड.

आतंकियों की गिरफ्तारी को अब मिला सियासी रंग, देखें क्या बोल रहे हैं विपक्षी दल

12 जुलाई 2021

यूपी पुलिस का लखनऊ में आतंकी साजिश का भण्डाफोड़ करने व इस मामले में गिरफ्तार दो लोगों के तार अलकायदा से जुड़े होने का दावा किया है. 2022 में विधानसभा चुनाव हैं और अब आतंकियों की गिरफ्तारी को सियासी रंग दे दिया गया. सभी दल अपना सियासी एजेंडा मिनहाज अहमद और मसीरुद्दीन उर्फ मुशीर के नाम में तलाश रहे हैं. विपक्षियों का कहना है कि यूपी विधानसभा आमचुनाव के करीब आने पर ही इस प्रकार की कार्रवाई लोगों के मन में संदेह पैदा करती है. विपक्षियों का सवाल है कि अगर इस कार्रवाई के पीछे सच्चाई है तो पुलिस इतने दिनों तक क्यों बेखबर रही. देखें वीडियो.

मंहगाई से आम जनता है बेदम, जानिए पिछले एक साल में कितनी बार बढ़े भाव

11 जुलाई 2021

कोरोना वायरस महामारी के खतरे के बीच मंहगाई रूकने का नाम नहीं ले रही है. थोक मंहगाई दर भी रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच चुकी है. खान-पान से लेकर घर में उपयोग होने वाले हर वस्तुओं के दाम काफी ज्यादा बढ़े हैं. इसके अलावा पेट्रोल और डीजल की कीमतों ने सैंकड़ा पार कर लिया. देश के कुछ शहरों में पेट्रोल की कीमत 111 रूपये तक पहुंच चुकी है. जनता इस मंहगाई से बेहाल है. जगह-जगह इसको लेकर विरोध प्रदर्शन भी किए जा रहे हैं और सरकार से मंहगाई कम करने के लिए कोई ठोस कदम उठाने की मांग की जा रही है. देखें वीडियो.

इधर थर्ड वेव का खतरा, उधर पहाड़ों पर कोरोना प्रोटोकॉल तोड़ रहे हैं पर्यटक

10 जुलाई 2021

इधर कोरोना के मामले कम क्या हुए, लोग लापरवाह हो गए हैं. पहाड़ी क्षेत्रों में पर्यटकों की भारी भीड़ दिख रही हैं, प्रोटोकॉल का जमकर उल्लंघन हो रहा है. ये सब तब हो रहा है जब देश कोरोना के तीसरे वेव को लेकर चेतावनी जारी कर दी गई है. ऐसे में इन लापरवाह लोगों की ये हरकत कोरोना के कहर को दावत दे रही है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इस स्थिति को लेकर अपनी चिंता जाहिर कर दी है. लेकिन लोग सुधरने को तैयार नहीं है. वहीं दूसरी तरफ मैदानी इलाकों में भी बाजारों में भारी भीड़ दिखनी शुरू हो गई है. देखें वीडियो.

यूपी में योगी बनाम महागठबंधन होगा? देखें स्पेशल रिपोर्ट

09 जुलाई 2021

उत्तर प्रदेश में ब्लॉक प्रमुख के चुनाव हिंसा और अराजकता के आरोपों से घिर गए हैं. कहने को लोकतंत्र की पहली सीढ़ी पंचायत है लेकिन उसी पंचायत चुनाव में मर्यादाओं को तार-तार करने वाली तस्वीरें सामने आई हैं. उत्तर प्रदेश में रामराज्य बनाम गुंडाराज्य के प्रयोग का सच दिखाई दे रहा है. 2022 के फाइनल से पहले जिस पंचायत चुनाव को सत्ता का सेमिफाइनल माना जा रहा है, उसी चुनाव के चीर हरण के दृश्यों पर अखिलेश यादव ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर सीधा हमला बोला है. चुनाव जीतने की हड़बड़ी में गड़बडी की ऐसी-ऐसी तस्वीरें सामने आईं कि रामराज्य वाले सुशासन के दावों का दम निकल गया. क्या उत्तर प्रदेश में योगी बनाम महागठबंधन की अगुवाई करेंगे अखिलेश यादव? देखें स्पेशल रिपोर्ट का ये एपिसोड.

कैसे किया गया मोदी मंत्रालय का बंटवारा? देखें स्पेशल रिपोर्ट

08 जुलाई 2021

कैबिनेट में सबसे बड़े फेरबदल के बाद जो चेहरे शामिल हुए अब यही नई टीम नरेंद्र मोदी के न्यू इंडिया के ब्लू-प्रिंट को साकार करेगी. मोदी ने एक-एक चेहरे को खुद चुना, हर चेहरे के हिसाब से मंत्रालय का बंटवारा किया. यानी जैसा चुनौती सरकार के सामने है, उसे हैंडल करने के लिए वैसे ही चेहरे को नए मोर्चो पर भेजा है. ऐसा करते वक्त हैविवेट चेहरों को टीम से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया. मोदी की नई टीम में इन चेहरों पर खूब चर्चा हो रही है. हर नए चेहरे के पीछे मोदी की नई सोच हैं, लेकिन अहम मंत्रालयों में फेरबदल करके मोदी ने बड़ा दांव खेला है. समझें इसका मकसद.

क्या है कैबिनेट विस्तार के पीछे का सियासी पिक्चर? देखें स्पेशल रिपोर्ट

07 जुलाई 2021

मंत्रिमंडल विस्तार से करीब तीस मिनट पहले मोदी सरकार की तरफ से चौंकाने वाली खबर सामने आई. एक दो नहीं बल्कि 12 मंत्रियों का इस्तीफा हुआ।इस्तीफा देने वाले कैबिनेट मंत्री के नाम सुनकर पहले यकीन नहीं हुआ .लेकिन रविशंकर प्रसाद से लेकर प्रकाश जावडेकर जैसे हैवीवेट मंत्रियों को मोदी कैबिनेट से आउट कर दिया. वहीं दूसरी ओर कुल 15 कैबिनेट मंत्री को शपथ दिलाया गया. जिसमें अनुराग ठाकूर, हरदीप पुरी और किरण रिजिजू का प्रमोशन कर उन्हें कैबिनेट मंत्री बनाया गया है. देखें वीडियो.

महाराष्ट्र विधानसभा बना अखड़ा, जानिए 12 बीजेपी विधायकों क्यों किया गया सस्पेंड

05 जुलाई 2021

महाराष्ट्र में दो दिन मॉनसून सत्र के दौरान विधानसभा में हुए हंगामे की. आज विधानसभा में. OBC और मराठा आरक्षण को लेकर सरकार और विपक्ष आपस में भिड़ गए, नतीजा ये हुए कि बीजेपी के 12 विधायकों को एक साल के लिए सस्पेंड कर दिया गया. आरोप है कि बीजेपी विधायकों ने विधानसभा स्पीकर के साथ बद्तमीजी कीअनुशासनहीनता के चलते विधायकों पर हुए एक्शन के पीछे BJP को सियासत नजर आ रही है. BJP आरोपों को नकार रही है. बीजेपी ने उद्दव सरकार पर विपक्ष की आवाज दबाने का आरोप लगाया है. देखें वीडियो.