scorecardresearch
 

हो गए दिन, कार्यवाही बिन.. देखें संसद में संग्राम पर सो सॉरी

हो गए दिन, कार्यवाही बिन.. देखें संसद में संग्राम पर सो सॉरी

पेगासस जासूसी विवाद हो या कृषि कानून, संसद के इस मॉनसून सत्र में विपक्ष ने लोकसभा और राज्यसभा दोनों सदनों की कार्यवाही सही तरीके से नहीं चलने दी. पूरा सत्र हंगामे की भेंट चढ़ गया है, लेकिन इन दोनों मामलों पर चर्चा नहीं हो पाई. हंगामे और सदन की मर्यादा को भंग करने पर हर दिन दोनों सदनों की कार्वाही स्थगित करनी पड़ी. कभी संसद में पर्चे फाड़े गए, तो कभी विपक्षी दलों के नेताओं ने वेल में जमकर हंगामा किया. वहीं विपक्षी दलों के नेता ने डेस्क पर चढ़कर आसन की तरफ रूल बुल भी फेंक दी. विपक्ष का आरोप है कि सदन में उनकी आवाज को दबाया जा रहा है. वहीं, सरकार का कहना है विपक्षी दलों के नेता जानबूझकर सदन की कार्यवाही बाधित कर रहे हैं. सो सॉरी का ये खास संस्करण इसी संसद के संग्राम पर बनाया गया है, देखें ये वीडियो.

Be it Pegasus espionage controversy or agricultural law, in this monsoon session of Parliament, the opposition did not allow the proceedings of both the Houses of Lok Sabha and Rajya Sabha to run properly. The entire session has become a ruckus, but both these matters could not be discussed. The proceedings of both the houses had to be adjourned every day due to the uproar and breach of the decorum of the House. Sometimes pamphlets were torn in Parliament, and leaders of opposition parties created a ruckus in the Well. While the other time, the leader of the opposition parties climbed the desk and threw the rule bull towards the seat. The opposition alleges that their voice is being suppressed in the House. At the same time, the Government says that the leaders of the opposition parties are deliberately disrupting the proceedings of the House. This special edition of So Sorry has been created on the struggle of this Parliament, watch this video.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें