scorecardresearch
 

देश में Uniform Civil Code की जरूरत, Delhi High Court ने कहा- ये लागू करने का सही समय

देश में Uniform Civil Code की जरूरत, Delhi High Court ने कहा- ये लागू करने का सही समय

आज दिल्ली हाईकोर्ट ने देश में समान नागरिक संहिता की जरूरत पर जोर दिया है. तीन दशक से ज्यादा वक्त पहले जो जरूरत देश के लिए पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने बताई, अब उसी बात को दिल्ली हाईकोर्ट ने दोहराया है. दरसल एक मामले में सुनवाई करते हुए जस्टिस प्रतिभा एम सिंह ने कहा कि देश मे यूनिफार्म सिविल कोड लागू होना चाहिए. साथ ही कहा कि संविधान में जो उम्मीद समान नागरिक संहिता को लागू करने के लिए जताई गई, उसे अब हकीकत में बदलने की जरूरत है. लेकिन देश के लिए जरूरी उसी समान नागरिक संहिता को धर्म के नाम पर वोट चाहने वाली सियासत ने लागू नहीं होने दिया. देखें दस्तक का का ये एपिसोड.

The Delhi High Court has backed the implementation of a Uniform Civil Code in the country. While hearing a case, Justice Pratibha M Singh said that the Uniform Civil Code should be implemented in the country. At the same time, she said that the hope that has been expressed in the Constitution for the implementation of the Uniform Civil Code now needs to be converted into reality. But the same uniform civil code necessary for the country was not allowed to be implemented due to the politics that wanted votes in the name of religion. Watch this episode of Dastak Aaj Tak.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें