scorecardresearch
 

दंगल: महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन, शिवसेना को माया मिली ना राम?

दंगल: महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन, शिवसेना को माया मिली ना राम?

महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लग गया है. 24 अक्टूबर को नतीजे आए थे, लेकिन 2 हफ्तों से अधिक वक्त में सरकार किसकी बनेगी ये फैसला नहीं हो सका. वैसे तो कल रात साढ़े 8 बजे जब NCP के नेता राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मिले थे तो उन्हें सरकार की संभावना तलाशने के लिए 24 घंटों का वक्त मिला था. आज 11:30 बजे NCP ने राज्यपाल को चिट्ठी भेजकर 2 दिनों और वक्त मांगा था. इसके बाद राज्यपाल ने राष्ट्रपति शासन की सिफारिश की. हालांकि, राज्यपाल के फैसले से पहले NCP का बयान आया था कि वो कांग्रेस के नेताओं से मिलकर सरकार की संभावना पर बातचीत करेंगे. NCP राज्यपाल से भी मिलने वाली थी, कि तभी राष्ट्रपति शासन की सिफारिश करने का फैसला हो गया. आज हम दंगल में पूछेंगे कि जिस तरह से महाराष्ट्र की राजनीति बदली है, उसके बाद क्या शिवसेना को माया मिली ना राम?

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें