scorecardresearch
 

दंगल: पद्मावती पर पॉलिटिक्स... मत चूको चौहान!

मध्यरप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ऐलान कर दिया है कि अगर संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती में राजपूत महारानी की आन-बान-शान के खिलाफ़ ज़रा भी कुछ हुआ तो एमपी में फिल्म रिलीज़ नहीं होने दी जाएगी. इतना ही नहीं, शिवराज सिंह चौहान ने राष्ट्रमाता पद्मावाती की जय के नारे भी लगाए. सिर्फ शिवराज सिंह चौहान ही नहीं, उनके पहले यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ भी फिल्म की रिलीज़ में स्थानीय चुनावों का हवाला दे कर आनाकानी कर चुके हैं. राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने तो सीधे सीधे केंद्र को चिट्ठी लिख कर बता दिया था कि जब तक फिल्म में ज़रूरी बदलाव न हो जाएं, फिल्म रिलीज़ न होने दी जाए. हालांकि फिल्म की रिलीज़ अब टल चुकी है. लेकिन विरोध ठंडा नहीं पड़ा है. अब तक मोर्चा केवल राजपूत करणी सेना ने संभाला था. अब बीजेपी के नेता भी मैदान में उतर आए हैं. तीन राज्यों के मुख्यमंत्रियों के अलावा, केंद्र के मंत्री भी पद्मावती पर खुल कर राय ज़ाहिर कर चुके हैं. हरियाणा बीजेपी के पदाधिकारी ने तो संजय लीला भंसाली और दीपिका पादुकोण के सिर काट लाने वाले को दस करोड़ रूपए के ईनाम का ऐलान तक कर दिया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें