scorecardresearch
 

'चुनाव में BJP के लिए किन अफसरों ने किया काम', कमलनाथ ने पार्टी नेताओं से मांगी लिस्ट

मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम कमलनाथ ने पार्टी नेताओं को एक चिट्ठी भेजी है. इसमें उन्होंने पूछते हुए यह ब्योरा मांगा कि प्रदेश के पंचायत और निकाय चुनाव में किन अफसरों ने भाजपा के पक्ष में काम किया. उन्होंने कहा कि इस संबंध में उन्हें कई शिकायतें मिली हैं.

X
कमल नाथ. (File Photo) कमल नाथ. (File Photo)

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने शुक्रवार को प्रदेश के सभी पार्टी जिला अध्यक्षों को चिट्ठी लिखी है. इस चिट्ठी में उनसे राज्य सरकार के ऐसे कर्मचारियों-अधिकारियों का नाम भेजने के लिए कहा है, जिन पर पिछले दिनों हुए पंचायत और निकाय चुनाव में सत्तारूढ़ भाजपा के पक्ष में काम करने का आरोप है. 

कमलनाथ ने इसके लिए एक ईमेल और एक वॉट्सएप नंबर भी जारी किया है. कमलनाथ ने शिकायत करने के लिए ईमेल 'knathelectioncomplaints@gmail.com' जारी किया है. इसके अलावा वॉट्सएप नंबर 9425983398 पर कर्मचारियों-अधिकारियों के नाम मांगे गए हैं. यह शिकायत सीधे कमलनाथ के पास पहुंचेगी. सभी जिला अध्यक्षों शहर और ग्रामीण को पंचायत और निकाय चुनाव में सत्ता के एजेंट की तरह काम करने वाले कर्मचारियों और अधिकारियों की लिखित शिकायत करने के लिए कहा है.

कांग्रेस सूत्रों का कहना है कि कमलनाथ के पास कई अधिकारी और कर्मचारियों की नियम विरुद्ध काम करने और सत्ताधारी दल के प्रत्याशियों के लिए काम करने की शिकायतें आई हैं. कमलनाथ ने जो चिट्ठी जिला अध्यक्षों को भेजी है, उसमें लिखा है कि पंचायत व नगरीय निकाय के चुनावों में कई स्थानों पर पुलिस, पैसा और प्रशासन का दुरुपयोग किया गया है. कांग्रेस के प्रत्याशियों, कार्यकर्ताओं और समर्थकों पर सत्ता पक्ष के कहने पर द्वेषपूर्ण कार्रवाई की गई और सत्ता पक्ष को चुनाव जिताने के लिए खुलकर और पर्दे के पीछे से समर्थन किया गया.

ऐसी सूचनाएं चुनाव के दौरान और बाद में मिलते रहे हैं. तंत्र ने कानून का पालन नहीं किया. सत्ता दल को असंवैधानिक सहयोग किया. ऐसी घटनाओं और द्वेषपूर्ण कर्मचारियों के कारण स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव नहीं हो पाया है. चुनाव में किस स्तर पर गड़बड़ी और अनियमितता की गई है, इसके बारे में जानकारी दें. पीसीसी में चुनाव शिकायत प्रभारी चंद्रिका प्रसाद द्विवेदी को जानकारी लिखित में या वॉट्सएप या ई-मेल करें'

चिट्ठी के अंत में कमलनाथ से लिखा है कि आप सभी को स्पष्ट करना चाहता हूं कि 14 महीने बाद जब हमारी कांग्रेस पार्टी की सरकार बनेगी, तब इन अधिकारियों और कर्मचारियों जिन्होंने पद का दुरुपयोग किया है, उन सभी का इंसाफ 14 महीने बाद किया जाएगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें