scorecardresearch
 

सीता से बड़ा फेमिनिज्म का उदाहरण और कहीं नहीं मिलेगा: आनंद नीलकंठन

साहित्य आजतक के मंच पर लेखक आनंद नीलकंठन ने कहा कि हम संतुष्ट नहीं होते, इसलिए विकास होता है. इसमें महिलाओं का योगदान बहुत ज्यादा रहा है. मेरे किताबों, सीरियल्स और फिल्मों में भी ऐसा ही दिखता है. राइज ऑफ शिवगामी बैक स्टोरी है. बाहुबली फिल्म के साथ ये भी बन रहा था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें