scorecardresearch
 

मां की डाइट बच्चे को गर्भ में ही बना सकती है बूढ़ा

ये तो हम सभी जानते हैं कि एंटी-ऑक्सीडेंट्स के सेवन से बढ़ती उम्र के लक्षण जल्दी सामने नहीं आते. पर क्या आप जानते हैं गर्भावस्था में एंटी-ऑक्सीडेंट्स लेना क्यों जरूरी है?

गर्भवती का खाना गर्भवती का खाना

हाल में हुए एक अध्ययन के मुताबिक, बढ़ती उम्र के लक्षण गर्भ से ही शुरू हो जाते हैं. चूहों पर किए गए एक शोध में पाया गया है कि गर्भ से ही बढ़ती उम्र के लक्षण प्रभाव डालना शुरू कर देते हैं.

ये तो आपको भी पता होगा कि गर्भ में पल रहे बच्चे को उसकी मां से ही पोषण मिलता है. ऐसे में मां अगर हेल्दी चीजों का सेवन करेगी तो बच्चा भी सेहतमंद होगा वरना...

जब कोई गर्भवती महिला पूरे गर्भकाल में एंटी-ऑक्सीडेंट्स युक्त खाना खाती है तो बच्चे पर बढ़ती उम्र के लक्षण देर से प्रभाव डालते हैं. इस अध्ययन में कहा गया है कि जिन बच्चों को गर्भ में ऑक्सीजन नहीं मिल पाती है उनमें बढ़ती उम्र के लक्षण जल्दी नजर आने लगते हैं.

एंटी-ऑक्सीडेंट्स के सेवन से ढलती उम्र के लक्षण जल्दी सामने नहीं आते. पर कम ही लोगों को ये बात पता होती है कि गर्भावस्था में भी एंटी-ऑक्सीडेंट्स लेना जरूरी है.

आज के समय में जब प्रदूषण एक बड़ी समस्या बन चुका है तो ये जरूरी हो जाता है कि हम ऐसी चीजों का सेवन करें जिनमें पर्याप्त मात्रा में एंटी-ऑक्सीडेंट्स हों. ताकि हमारे शरीर पर विषाक्त पदार्थों का असर कम नजर आए.

शोधकर्ताओं का कहना है कि गर्भावस्था में एंटी-ऑक्सीडेंट्स से भरपूर खाना खाने से गर्भ में पल रहे बच्चे पर बढ़ती उम्र के लक्षण जल्दी हावी नहीं होने पाते.

हालांकि गर्भावस्था में कुछ भी खाना खतरनाक हो सकता है. ऐसे में कुछ भी खाने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर ले लें. जरूरी नहीं की जो चीजें दूसरों के लिए फायदेमंद हों वो आपके लिए भी हों ही.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें