scorecardresearch
 

Breast Cancer symptoms: महिमा चौधरी को हुआ ब्रेस्ट कैंसर, ये लक्षण दिखते ही महिलाएं हो जाएं सावधान

अभिनेत्री महिमा चौधरी इन दिनों कैंसर की जंग लड़ रही हैं. महिला ब्रेस्ट कैंसर से जूझ रही हैं. वो हर साल अपनी बॉडी का पूरा चेकअप कराती थीं और इसी दौरान डॉक्टर ने उन्हें ब्रेस्ट कैंसर की जांच कराने की सलाह दी. जांच में महिमा को पता चला कि वो ब्रेस्ट कैंसर के शुरुआती स्टेज पर हैं. डॉक्टर्स ने उनका ट्रीटमेंट शुरू कर दिया है. हर महिला को ब्रेस्ट कैंसर के लक्षण पता होने चाहिए ताकि उसे समय रहते फैलने से रोका जा सके.

X
ब्रेस्ट कैंसर से जूझ रही हैं महिमा चौधरी ब्रेस्ट कैंसर से जूझ रही हैं महिमा चौधरी
स्टोरी हाइलाइट्स
  • महिमा चौधरी को हुआ ब्रेस्ट कैंसर
  • बेस्ट कैंसर के लक्षण
  • लक्षणों पर ध्यान दें महिलाएं

फिल्मों से दूर एक्ट्रेस महिमा चौधरी आजकल ब्रेस्ट कैंसर से जूझ रही हैं. इसकी जानकारी अनुपम खेर ने इंस्टाग्राम पर एक वीडियो के जरिए दी है. महिमा ने भी इस वीडियो को शेयर किया है. अच्छी बात ये है कि महिमा को कैंसर की शुरुआती स्टेज में ही इसकी जानकारी मिल गई और जल्द ही इसका ट्रीटमेंट शुरू कर दिया गया. ब्रेस्ट कैंसर के लक्षण सभी महिलाओं को पता होने चाहिए ताकि समय रहते इसे फैलने से रोका जा सके.

ब्रेस्ट कैंसर कैसे होता है (Breast Cancer Causes)- कैंसर तब होता है जब कोशिकाओं को नियंत्रित करने वाले जीन में म्यूटेशन होने लगते हैं. इस म्यूटेशन की वजह से कोशिकाएं अनियंत्रित तरीके से बढ़ने लगती हैं. ब्रेस्ट कैंसर में ये कैंसर स्तन की कोशिकाओं में विकसित होता है. आमतौर पर, ये कैंसर फैटी कोशिकाओं, लोब्यूल्स या ब्रेस्ट की नली में बनता है. अनियंत्रित कैंसर कोशिकाएं अक्सर ब्रेस्ट की स्वस्थ कोशिकाओं को भी अपनी चपेट में ले लेती हैं और बाहों के नीचे लिम्फ नोड्स तक पहुंच जाती हैं. 

ब्रेस्ट कैंसर डीएनए के डैमेज होने या जेनेटिक म्यूटेशन की वजह से विकसित होता है. एस्ट्रोजेन के संपर्क में आने, आनुवांशिक जीन्स में डिफेक्ट या माता-पिता से मिले जीन्स इसके लिए जिम्मेदार हो सकते हैं. जब कोई व्यक्ति स्वस्थ होता है तो उसका इम्यून सिस्टम किसी भी असामान्य डीएनए या वृद्धि पर हमला करके उसे रोकता है. लेकिन जब किसी व्यक्ति को कैंसर हो जाता है तो ऐसा नहीं होता है. नतीजतन, ब्रेस्ट के ऊतक की कोशिकाएं अनियंत्रित होकर बढ़ने लग जाती हैं और वो नष्ट भी नहीं होतीं. कोशिकाओं की ये असामान्य वृद्धि ट्यूमर का रूप ले लेती हैं जिससे कोशिकाओं तक जरूरी पोषक तत्व और ऊर्जा नहीं पहुंच पाते. ब्रेस्ट कैंसर मिल्क डक्ट्स या लोब्यूल्स की अंदरूनी किनारे से शुरू होता है और बाद में शरीर के दूसरे हिस्सों में भी फैलने लगता है.

ब्रेस्ट कैंसर के लक्षण (Breast Cancer Symptoms)- शुरुआती स्टेज में ब्रेस्ट कैंसर के कोई लक्षण नहीं होते हैं. ज्यादातर मामलों में ये ट्यूमर इतना छोटा होता है कि महसूस तक नहीं होता है लेकिन मैमोग्राम टेस्ट से इसकी पहचान की जा सकती है. ये ट्यूमर तब महसूस किया जा सकता है, जब ब्रेस्ट में एक नई गांठ महसूस हो जो पहले नहीं थी. हालांकि, सभी गांठ कैंसर नहीं होते हैं. कुछ आम लक्षण हर तरह के ब्रेस्ट कैंसर में पाए जाते हैं.

-ब्रेस्ट में दर्द, ब्रेस्ट की स्किन का लाल हो जाना या रंग में बदलाव
-ब्रेस्ट के आसपास के हिस्सों में सूजन
-निप्पल डिस्चार्ज
-निप्पल से खून निकलना
-ब्रेस्ट या निप्पल की त्वचा का छिल जाना
-ब्रेस्ट के आकार में अचानक बदलाव
-निप्पल के आकार में बदलाव, निप्पल का अंदर की तरफ होना
-बांह के नीचे गांठ या सूजन

अगर आपको इनमें से कोई भी लक्षण महसूस होता है तो इसका मतलब यह नहीं है कि आपको ब्रेस्ट कैंसर ही है. जैसे ब्रेस्ट में दर्द या गांठ बिनाइन सिस्ट का भी लक्षण हो सकता है. फिर भी, अगर आपको ब्रेस्ट में कोई गांठ महसूस होती है या अन्य लक्षण लगते हैं तो इसकी सही जांच के लिए अपने डॉक्टर से जरूर संपर्क करें.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें