scorecardresearch
 

इबोला से बचने के बाद भी करें असुरक्षित यौन संबंध से परहेज

चिकित्सकों और शोधकर्ताओं ने इबोला संक्रमण से उबर चुके पुरुषों को कम से कम तीन महीनों तक असुरक्षित यौन संबंध से परहेज करने की सलाह दी है. शोधकर्ताओं का कहना है कि यह सलाह यौन संबंधों के जरिए इबोला वायरस को एक से दूसरे इंसान में फैलने से रोकने के नजरिए से दी गई है और यह एक रिसर्च पर आधारित है.

Symbolic Image Symbolic Image

चिकित्सकों और शोधकर्ताओं ने इबोला संक्रमण से उबर चुके पुरुषों को कम से कम तीन महीनों तक असुरक्षित यौन संबंध से परहेज करने की सलाह दी है. शोधकर्ताओं का कहना है कि यह सलाह यौन संबंधों के जरिए इबोला वायरस को एक से दूसरे इंसान में फैलने से रोकने के नजरिए से दी गई है और यह एक रिसर्च पर आधारित है.

शोधकर्ताओं ने कहा, 'इस विषय पर और अधिक रिसर्च किए जाने की जरूरत है, फिर भी स्वास्थ्य विशेषज्ञों को इबोला से उबर चुके पुरुषों को यौन संबध से परहेज करने या कम से कम तीन महीने तक असुरक्षित यौन संबंध नहीं बनाने की सलाह देनी चाहिए है.'

वाल्टर कारडोना-माया, पौला वेलिल्ला हर्नाडेज और डेनियल हेनाओ ने 1977 से 2007 के दौरान इबोला जैसे लक्षणों से पीड़ित रहे और स्वास्थ्य लाभ ले रहे मरीजों के स्वास्थ्य का अध्ययन किया. उन्होंने पाया कि पुरुषों के वीर्य में इबोला वायरस औसतन 66.6 दिनों तक और ज्यादा से ज्यादा 91 दिनों तक जीवित रहता है. शोधकर्ताओं के अनुसार, 'हाल ही में बड़े पैमाने पर फैले इबोला वायरस के प्रकोप इस बीमारी का अब तक का सबसे भयंकर और लंबा मामला है. अध्ययन में हमें पता चला कि हमने इस बीमारी को गंभीरता से न लेते हुए कितनी उपेक्षा की. इस जानलेवा बीमारी को जड़ से मिटाने के लिए व्यापक अध्ययन किए जाने की आवश्यकता है, ताकि सामाजिक, नैदानिक और जैविक निर्धारकों की स्थापना की जा सके.' यह रिसर्च जर्नल रिप्रोडक्टिव साइंस में प्रकाशित हुई है.

- इनपुट IANS

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें