scorecardresearch
 

कहीं कलह की वजह न बन जाए सोशल नेटवर्किंग साइट पर तस्वीरों को लाइक करना

सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर तस्वीरें अपलोड करने के अलावा दूसरों की फोटोज लाइक करना और उन पर कमेंट करना आम बात है. लेकिन यह आदत आपके रिश्तों में तनाव की वजह भी बन सकती है...

X
रिश्तों में दरार ला सकती हैं सोशल नेटवर्किंग साइट्स रिश्तों में दरार ला सकती हैं सोशल नेटवर्किंग साइट्स

क्या सोशल नेटवर्किंग साइट पर किसी की तस्वीर लाइक करने से आपके अच्छे और मधुर संबंधों में मनमुटाव पैदा होने लगा है? हैरान न हों, क्योंकि ऐसी घटनाएं अक्सर ही सामने आने लगी हैं. सोशल मीडिया की वजह से इन दिनों रिश्तों में दरार आ रही है.

मनोचिकित्सकों के अनुसार, सोशल मीडिया पर अत्याधिक समय व्यतीत करना बने-बनाए संबंधों को खराब कर सकता है.

खत्म होती जा रही है प्राइवेसी
मनोचिकित्सक आशिमा श्रीवास्तव का कहना है कि संबंधों के खत्म होने में सोशल मीडिया की भूमिका बढ़ती ही जा रही है, क्योंकि यह निजता को भंग करने वाला है. लगातार सोशल मीडिया साइट्स पर सक्रिय रहने वाले अन्य लोगों को कम समय दे पाते हैं .

संबंधों में आने लगी है खटास
फोर्टिस हेल्थकेयर के मानसिक स्वास्थ्य एवं व्यवहार विज्ञान विभाग के निदेशक समीर पारिख ने भी यही विचार व्यक्त किए और कहा कि सोशल मीडिया के कारण लोगों की प्राथमिकताएं बदल रही हैं, जो संबंधों में दरार लाने वाला साबित हो रहा है.
नई दिल्ली के ही मनोचिकित्सक रिपन सिप्पी ने कहा कि सोशल मीडिया पर प्रसारित झूठी या आधी-अधूरी कहानियों के प्रभाव में आकर लोग अपने साथी से अव्यवहारिक अपेक्षाएं पाल लेते हैं और उन पर उसी तरह के अवास्तविक जीवन जीने का दबाव डालने लगते हैं. सोशल साइट्स का अत्यधिक इस्तेमाल करने से किसी भी रिश्ते की जड़ों  जैसे विश्वास, निजी राय और वैयक्तिक स्वतंत्रता में कमी आती है.

मानसिक तनाव का सबसे बड़ा कारण
आशिमा के अनुसार, 'किसने किसकी कौन सी तस्वीर साझा की, किसने कहां और क्या टिप्पणी की और यहां तक कि सोशल साइट्स पर निजी चैट जैसी बातें संबंधों को खत्म करने वाली साबित होती हैं.' सोशल साइट्स पर मानसिक तौर पर अत्यधिक उलझाव के कारण लोग अपने साथी के विचारों को ज्यादा जगह नहीं दे पाते. किसी के कमेंट पर मिलने वाले लाइक और कमेंट उसे सोशल साइट पर दिन में अधिक से अधिक बार जाने के लिए उकसाते हैं.

स्मार्टफोन ने बढ़ा दी हैं दूरियां
फेसबुक जैसी सोशल साइट्स के यूजर्स इन पर मौजूद अन्य लोगों की जोड़ी से अपनी जोड़ी की तुलना करते हैं. यही नहीं, कई बार वे किसी मशहूर हस्ती तक से अपने साथी की तुलना करने लगते हैं, जिससे संबंधों में तनाव बढ़ने लगता है.
इस समस्या को स्मार्टफोन ने और बढ़ा दिया है और बेडरूम में वह 'तीसरे व्यक्ति' जैसी उपस्थिति रखने लगा है. यह सब पति-पत्नी के बीच रोमांस पनपने के लिए जरूरी निजता को खत्म कर देता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें