scorecardresearch
 

आर्थिक रूप से मजबूत बनाती है शादी

शादी का रिश्ता लिव-इन रिलेशनशिप से कहीं ज्यादा बेहतर होता है. शादी के बंधन में कपल लिव-इन रिलेशनशिप से कहीं ज्यादा समृद्ध होते हैं. स्वास्थ्य की बात हो या फिर आर्थिक स्थिति की, शादीशुदा दंपति की स्थिति तुलनात्मक रूप से कहीं अधिक अच्छी होती है. ये सभी दावे हैं एक ब्रिटिश थिंक-टैंक इंस्टीट्यूट फॉर फिसकल (आईएफएस) के.

शादी का रिश्ता लिव-इन रिलेशनशिप से कहीं ज्यादा बेहतर होता है. शादी के बंधन में कपल लिव-इन रिलेशनशिप से कहीं ज्यादा समृद्ध होते हैं. स्वास्थ्य की बात हो या फिर आर्थिक स्थिति की, शादीशुदा दंपति की स्थिति तुलनात्मक रूप से कहीं अधिक अच्छी होती है. ये सभी दावे हैं एक ब्रिटिश थिंक-टैंक इंस्टीट्यूट फॉर फिसकल (आईएफएस) के.

आईएफएस के मुताबिक शादीशुदा कपल ना सिर्फ अपेक्षाकृत सेहतमंद होते हैं बल्कि वे ज्यादा शिक्षित और अच्छी नौकरी में भी होते हैं. वह काफी कम वक्त में अपना घर बना लेते हैं. अच्छी खासी कमाई होने के कारण उन्हें अपने तमाम बिल चुकाने के लिए संघर्ष नहीं करना पड़ता.

यहीं नहीं, रिपोर्ट के मुताबिक विवाह सूत्र में बंधने के बाद रिश्ता टूटने के चांस बहुत कम रह जाते हैं. दंपति बच्चों की परवरिश भी बेहतर ढंग से कर पाते हैं. अच्छी देख-रेख के कारण बच्चों को स्मोकिंग जैसी बुरी आदतें नहीं लगती.

वैवाहिक जोड़े क्यों लिव-इन में रहने वाले जोड़ों से अच्छी स्थिति में होते हैं, इसके आईएफएस की रिपोर्ट में कई कारण बताए गए हैं. एक वजह यह भी है कि लिव-इन में रह रही युवतियां शादीशुदा युवतियों की अपेक्षा ज्यादा परेशान और कमजोर होती हैं. वह जिम्मेदारियों को संभालने में शादीशुदा युवतियों की तुलना में कम सक्षम होती हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×