scorecardresearch
 
रिलेशनशिप

पति कर रहा था बच्चे की जिद, प्रेग्नेंट हुई तो पत्नी के सामने आया राज

महिला की दर्द भरी कहानी
  • 1/10

कभी-कभी रिश्ते में ऐसा धोखा मिल जाता है जिसे जिंदगी भर नहीं भुलाया जा सकता है. रिलेशनशिप पोर्टल के 'द डिवोर्स डायरी' कॉलम में न्यूजीलैंड की लिली नाम की एक महिला ने अपनी ऐसी ही कहानी शेयर की है जिसे सुनकर कोई भी हैरान हो जाए. लिलि ने बताया कि 25 साल की उम्र से ही उसका ब्वॉयफ्रेंड मैक्स पिता बनने की ख्वाहिश रखता था. मैक्स का कोई भाई-बहन नहीं था और वो हमेशा से एक बड़ा परिवार चाहता था.
 

महिला की दर्द भरी कहानी
  • 2/10

लिली ने लिखा, 'मैक्स अक्सर बातें करता था कि उसे कम से कम तीन बच्चे चाहिए. हालांकि, मैं कभी भी बच्चों को लेकर इतनी उत्साहित नहीं थी लेकिन मैक्स को देखते हुए मैंने भी सोच लिया था कि समय आने पर मैं इसके बारे में जरूर सोचूंगी क्योंकि मैक्स एक बहुत अच्छा पिता साबित होगा. 28 साल की उम्र में हमने शादी कर ली लेकिन मैंने 2 साल सिर्फ अपने करियर को देने का फैसला किया. हम दोनों ने फैसला किया 32 साल की उम्र के बाद हम बच्चे के लिए कोशिश करेंगे.'
 

(प्रतीकात्मक तस्वीर)

महिला की दर्द भरी कहानी
  • 3/10

'हालांकि इस फैसले के बारे में मुझे बार-बार मैक्स को याद दिलाना पड़ता था क्योंकि वो जब भी कहीं छोटा बच्चा देखता तो फिर से उत्सुक हो जाता. आखिर 32 साल के बाद हमने फैमिली प्लानिंग शुरू कर दी. एक साल तक लगातार कोशिश करने के बाद भी मैं प्रेग्नेंट नहीं हो पा रही थी. मेरी बहन जो कि डॉक्टर है, उसने मुझसे कहा कि मैं बच्चे का बहुत ज्यादा दबाव ले रही हूं और मुझे बिना तनाव के कोशिश करनी चाहिए.'

(प्रतीकात्मक तस्वीर)

महिला की दर्द भरी कहानी
  • 4/10

'तनाव से दूर रहने के लिए हमने एक हॉलीडे प्लान किया. मैं धीरे-धीरे बिल्कुल टेंशन फ्री होने लगी थी और मैक्स भी अब बच्चों के बारे में बात नहीं करता था. आखिरकार 16 महीनों के बाद मुझे वो खुशी मिली जिसका हम दोनों को इंतजार था. सबसे ज्यादा मैं मैक्स की प्रतिक्रिया देखने के लिए उत्साहित थी. जब मैंने मैक्स को अपने प्रेग्नेंट होने की बात बताई तो उसने मुझे गले लगाकर कहा कि ये अच्छी खबर है. इसके बाद वो सामान्य तरीके से किचन में कुछ काम करने चला गया. मेरे लिए ये थोड़ा हैरान करने वाला था क्योंकि मैक्स ही था जो कुछ साल पहले तक बच्चों के लिए पागल रहता था.' 

(प्रतीकात्मक तस्वीर)

महिला की दर्द भरी कहानी
  • 5/10

'मेरे मन में अपनी प्रेग्नेंसी को लेकर हमेशा एक तस्वीर रहती थी कि मैक्स मेरे साथ अल्ट्रासाउंड कराने जा रहा है, थके होने पर मेरे पैरों की मालिश कर रहा है और बेबी की किक सुनने के लिए बार-बार मेरे पेट पर हाथ रख रहा है. हालांकि, ये तस्वीर अब बिल्कुल उलट थी. डॉक्टर के पास चलने के लिए मैक्स को बार-बार बोलना पड़ता था. वो हर समय काम में व्यस्त रहता था और समय मिलते ही जिम या दोस्तों के पास चला जाता था.'
 

(प्रतीकात्मक तस्वीर)

महिला की दर्द भरी कहानी
  • 6/10

'आखिरकार एक दिन जब मैक्स देर रात घर आया तो मुझसे रहा नहीं गया और मैंने उसके इस बदले व्यवहार के बारे में पूछ लिया. मैंने कहा कि इतने सालों तक वो बच्चे को लेकर परेशान था और जब मैं प्रेग्नेंट तो फिर वो कोई दिलचस्पी क्यों नहीं दिखा रहा है. इसके बाद मैक्स ने जो जवाब दिया वो सुन कर मुझे एक तेज झटका लगा. मैक्स ने कहा कि वो अब बच्चा नहीं चाहता है और इस बात का एहसास उसे देर से हुआ. हमारे बीच जब ये बातें हो रहीं थीं तब मैं सात महीने की प्रेग्नेंट थी.आगे के दो महीने मुझे बिल्कुल धुंधले दिखाई दे रहे थे. '
 

(प्रतीकात्मक तस्वीर)

महिला की दर्द भरी कहानी
  • 7/10

'वो रात मेरी कैसे गुजरी, मुझे खुद समझ नहीं आया. अगले दिन मैक्स ने कहा कि वो घर छोड़कर जाना चाहता है. मुझे लगा कि उसे शायद एक ब्रेक की जरूरत है और कुछ दिनों में वो माफी मांगते हुए लौट आएगा. मैंने एक हफ्ते तक इस बारे में किसी को नहीं बताया लेकिन समय बीतने पर मैंने उसकी छोटी बहन को इस बात की जानकारी दी. वो उसी दिन मेरे पास आ गई. मैक्स की बहन का भी यही कहना था कि वो कुछ दिनों में अपने आप लौट आएगा. पर ऐसा नहीं हुआ.'

(प्रतीकात्मक तस्वीर)

महिला की दर्द भरी कहानी
  • 8/10

'डिलीवरी के वक्त मैक्स की बहन मेरे साथ थी. उसने मैक्स को फोन पर बताया कि हमारी बेटी हुई है. उसने बोला कि वो जल्द लौट आएगा लेकिन बाद में खबर आई कोरोना की वजह से उसने अपना प्लान टाल दिया है. कुछ हफ्तों के बाद पता चला कि उसे ऑस्ट्रेलिया में एक अच्छी जॉब मिल गई है और वो वहां शिफ्ट हो गया है. मुझे अभी भी यकीन नहीं हो रहा था कि ये सब मेरे साथ हुआ है. सिंगल मदर के नाम से ही मैं घबरा जाती थी.'
 

(प्रतीकात्मक तस्वीर)

महिला की दर्द भरी कहानी
  • 9/10

मैक्स की गैरहाजिरी में उसके परिवार वाले लिली के साथ खड़े रहे. लिली ने लिखा, 'एक दिन रात में 3 बजे मैक्स ने मैसेज किया कि मुझे लगता है मुझसे बड़ी गलती हो गई. उसने अपने किए की माफी मांगी. हालांकि, कुछ कॉमन फ्रेंड्स से मुझे पता चला कि उसकी एक गर्लफ्रेंड है और वो अब उसी के साथ रहता है. ये पूरा समय मेरे लिए किसी बुरे सपने की तरह रहा है. मेरे जीने की वजह बस मेरी बेटी है.'
 

(प्रतीकात्मक तस्वीर)

महिला की दर्द भरी कहानी
  • 10/10

'मैंने कई रात गूगल पर ऐसी महिलाओं के बारे में सर्च किया जिनके पति उन्हें तब छोड़ कर चले गए जब वो प्रेग्नेंट थीं. मैं ये जानना चाहती थी कि क्या मैं पहली ऐसी औरत हूं जिसके साथ ऐसा कुछ हुआ है. मुझे अपनी जैसी कई आपबीती पढ़ने को मिलीं.' लिली का कहना है कि वो अपनी कहानी इसलिए शेयर नहीं कर रही है कि उसका पति वापस आ जाए बल्कि इन हालात से गुजर रही दूसरी महिलाओं को बताना चाहती है कि वो अकेली नहीं हैं. लिली का कहना है कि अच्छे काउंसलर और दोस्तों के जरिए ऐसी स्थिति से बाहर आया जा सकता है और अंत में सब ठीक होने लगता है.

(प्रतीकात्मक तस्वीर)