scorecardresearch
 

आप तो नहीं खा रहे ईंट-साबुन के पाउडर से बनी लाल मिर्च? ऐसे करें क्वॉलिटी चेक

Adulteration in turmeric and red chilli powder: ज्यादा मुनाफा कमाने के चक्कर में मिलावटखोर इनमें कैमिकल्स का इस्तेमाल करते हैं जो हमारी सेहत के लिए बेहद हानिकारक हैं. क्या आप जानते हैं आपकी रसोई में मौजूद हल्दी मिर्च भी इनसे अछूते नहीं हैं. इनकी क्वांटिटी बढ़ाने और क्वलिटी खराब करने के लिए तरह-तरह की चीजों का इस्तेमाल किया जाता है.

Photo Credit: Getty Images Photo Credit: Getty Images
स्टोरी हाइलाइट्स
  • खाने की चीजों में कैमिकल्स का इस्तेमाल सेहत के लिए हानिकारक
  • हल्दी-मिर्च में रेत, ईंट और साबुन के पाउडर का इस्तेमाल

दूध, घी, तेल, फल और सब्जियों सहित खाने की लगभग हर चीज में मिलावट होने लगी है. ज्यादा मुनाफा कमाने के चक्कर में मिलावटखोर इनमें कैमिकल्स का इस्तेमाल करते हैं जो हमारी सेहत के लिए बेहद हानिकारक हैं. क्या आप जानते हैं आपकी रसोई में मौजूद हल्दी मिर्च भी इनसे अछूते नहीं हैं. इनकी क्वांटिटी बढ़ाने और क्वलिटी खराब करने के लिए तरह-तरह की चीजों का इस्तेमाल किया जाता है.

फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड ऑथोरिटी ऑफ इंडिया (FSSAI) ने हाल ही में उपभोक्ताओं को जागरूक करने के लिए अपने ट्विटर हैंडल पर एक वीडियो शेयर किया है. इस वीडियो में बताया गया है कि बाजार में बिकने वाले हल्दी में कैमिकल वाले रंगों का प्रयोग कर मिलावटखोर उसकी क्वॉलिटी को खराब कर सकते हैं. कैमिकल वाले रंग हमारी सेहत के लिए घातक साबित हो सकती हैं.

इसी तरह बाजार में मिलने वाली पिसी हुई लाल मिर्च में ईंट का चूर्ण, टाक पाउडर, साबुन या रेत डालकर उसे खराब किया जा सकता है. इसलिए बाजार से इन मसालों को खरीदते वक्त ग्राहक को बहुत सावधान रहना चाहिए. FSSAI ने इस जालसाजी से बचने की तरकीब भी ट्विटर पर वीडियो के माध्यम से शेयर की है.

लाल मिर्च असली है या नकली?
मिलावटखोर लाल मिर्च में ईंट का चूर्ण या फिर रेत जैसी चीजों का इस्तेमाल करते हैं. इससे पहचानने के लिए पानी का एक आधा भरा हुआ ग्लास लें. उसमें एक चम्मच लाल मिर्च पाउडर डालें. मिर्च को चम्मच से हिलाए बिना गिलास की तलहटी तक जाने दें. इसके बाद भीगे हुए मिर्च पाउडर को हथेली पर हल्के हाथ से रगड़ें. इसे रगड़ते वक्त अगर आप किरकिरापन महसूस होता है तो समझिए यह मिलावटी है. अगर आपको चिकनापन महसूस हो रहा है तो समझिए कि इसमें साबुन के पाउडर का इस्तेमाल हुआ है.

हल्दी असली है या नकली?
इसी तरह आप हल्दी की क्वालिटी भी टेस्ट कर सकते हैं. इसके लिए कांच का गिलास पानी से आधा भर लीजिए. इसके बाद इसमें एक चम्मच हल्दी डालिए. अगर हल्दी पूरी तरह से तलहटी में बैठ जाती है और पानी का रंग हल्का पीला पड़ता है तो समझिए इसमें कोई शिकायत नहीं है. वहीं अगर हल्दी पूरी तरह से नीचे नहीं बैठती और पानी का रंग भी बहुत ज्यादा पीला हो जाता है तो समझिए इसमें मिलावट की गई है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×