scorecardresearch
 

Diabetes Awareness Month 2021: बेकाबू डायबिटीज खोखला कर सकती है पूरा शरीर, ये 8 लक्षण ना करें इग्नोर

डायबिटीज इंसान के दिल, रक्त वाहिकाओं, आंख, किडनी और नर्व्स सिस्टम को सबसे ज्यादा खराब करती है. इसका सबसे ज्यादा शिकार पुरुष वर्ग ही होता है. अगर हाई ब्लड शुगर लेवल को समय रहते कंट्रोल ना किया जाए तो ये बीमारी इंसान को मौत के दरवाजे तक पहुंचा सकती है. इस बीमारी के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए हर साल नवंबर का महीना 'डायबिटीज अवेयरनेस मंथ' के रूप में सेलिब्रेट किया जाता है.

Diabetes Awareness Month 2021: पुरुषों को कभी इग्नोर नहीं करने चाहिए डायबिटीज के ये 8 वॉर्निंग साइन (Photo: Getty Images) Diabetes Awareness Month 2021: पुरुषों को कभी इग्नोर नहीं करने चाहिए डायबिटीज के ये 8 वॉर्निंग साइन (Photo: Getty Images)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • डायबिटीज बेकाबू हो जाए तो इंसान के पूरे शरीर को खोखला कर सकती है
  • पुरुषों को कभी इग्रोर नहीं करने चाहिए डायबिटीज के ये लक्षण

डायबिटीज एक ऐसी भयंकर बीमारी है जो बेकाबू हो जाए तो इंसान के पूरे शरीर को खोखला कर सकती है. इस बीमारी का असर इंसान के दिल, रक्त वाहिकाओं, आंख, किडनी और नर्व्स सिस्टम पर सबसे ज्यादा पड़ता है. इसका सबसे ज्यादा शिकार पुरुष वर्ग ही होता है. अगर हाई ब्लड शुगर लेवल को समय रहते कंट्रोल ना किया जाए तो ये बीमारी इंसान को मौत के दरवाजे तक पहुंचा सकती है. इस बीमारी के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए हर साल नवंबर का महीना 'डायबिटीज अवेयरनेस मंथ' के रूप में सेलिब्रेट किया जाता है. आइए इसी कड़ी में आपको डायबिटीज के उन लक्षणों के बारे में बताते हैं जो पुरुषों को कभी इग्रोर नहीं करने चाहिए.

इरेक्टाइल डिसफंक्शन- ब्लड शुगर बढ़ जाने की वजह से तंत्रिका और धमनियों को नुकसान पहुंचता है जिसकी वजह से पुरुषों में इरेक्टाइल डिसफंक्शन होने लगता है. जर्नल ऑफ इंटरनेशनल मेडिकल रिसर्च की एक स्टडी में पाया गया कि 89 फीसदी पुरुष मेटाबोलिक सिंड्रोम की वजह से इरेक्टाइल डिस्फंक्शन का अनुभव करते हैं. ये डायबिटीज का सबसे शुरूआती संकेत हो सकता है. अगर आपको भी ऐसी कोई समस्या है तो अपने डॉक्टर से संपर्क करें.

बार-बार पेशाब आना- बार-बार पेशाब आना भी डायबिटीज का एक संकेत है. दिन भर कम से कम 9 मेडिकल कंडीशन की वजह से लोगों को बाथरूम जाना पड़ता है. आमतौर पर लोग इस पर ध्यान नहीं देते हैं लेकिन अगर आपको रात में हर 2 घंटे में बाथरूम जाना पड़ता है तो आपको ध्यान देने की जरूरत है. हेल्थ एक्सपर्ट का कहना है कि पुरुषों में प्रोस्टेट बढ़ जाने की वजह से ये समस्या आती है.

यीस्ट इंफेक्शन- यीस्ट इंफेक्शन की वजह से भी पुरुषों को डायबिटीज हो सकती है. ब्लड शुगर बढ़ जाने की वजह से यीस्ट इंफेक्शन हो जाता है. हेल्थ एक्सपर्ट का कहना है कि पुरुषों में होने वाले यीस्ट इंफेक्शन का असर उनके लिंग पर पड़ता है. इसका इलाज आसानी से करवाया जा सकता है.

थकावट- आमतौर पर रात में बार-बार बाथरूम जाने की वजह से नींद ठीक से पूरी नहीं हो पाती है और इसकी वजह से थकान रहती है. हेल्थ एक्सपर्ट का कहना है कि ब्लड शुगर बढ़ जाने की वजह से भी शरीर में बहुत ज्यादा थकान महसूस होती है. कई मरीजों में डायबिटीज का पता चलने से काफी दिनों पहले से ही थकान के लक्षण  दिखने लगते हैं. अगर आपको अक्सर ही थकान रहती है तो अपना ब्लड शुगर टेस्ट कराएं.

वजन बढ़ना- उम्र के साथ वजन बढ़ना आम बात है लेकिन फिर आपको इस पर ध्यान देने की जरूरत है. 2016 में हुए एक रिसर्च में ये बात सामने आई थी कि डायबिटीज होने पर महिलाओं की तुलना में पुरुषों का वजन कम बढ़ता है. इसलिए अगर आपको लगता है कि आपका वजन बढ़ने लगा है तो ये भी डायबिटीज का एक लक्षण हो सकता है. इसके अलावा, खराब खान-पान की वजह से भी वजन बढ़ता है जिससे डायबिटीज होने की संभावना बढ़ जाती है.

एक्सरसाइज के समय सीने में दर्द- प्री-डायबिटीज में कई तरह की मेटाबोलिक समस्याएं होती हैं, उनमें से एक है हाई ब्लड प्रेशर. इसकी वजह से सीने में दर्द और इस्केमिया का खतरा बढ़ जाता है. एक्सरसाइज करते समय शरीर पर बहुत ज्यादा भार डालने से बचें. अगर आपको सीने में दर्द की समस्या अक्सर ही रहती है तो डॉक्टर से संपर्क कर अपने जरूरी टेस्ट कराएं.

प्रीमेच्योर इजेकुलेशन- प्रीमेच्योर इजेकुलेशन यानी शीघ्रपतन भी पुरुषों में डायबिटीज का एक प्रमुख लक्षण है. प्रीमेच्योर इजेकुलेशन या इरेक्टाइल डिसफंक्शन जैसी दिक्कतें मेटाबोलिक सिंड्रोम की वजह से होती हैं जो टाइप 2 डायबिटीज खतरे को बढ़ाती हैं. यूरोपियन यूरोलॉजी के शोध में डायबिटीज वाले 23 फीसदी पुरुषों ने प्रीमेच्योर इजेकुलेशन जबकि 5 फीसदी पुरुषों ने डिलेड इजेकुलेशन का अनुभव किया.

फैमिली मेडिकल हिस्ट्री- अगर आपके घर में किसी को डायबिटीज है तो आपमें भी डायबिटीज होने की संभावना बढ़ जाती है. 2013 में 8000 लोगों पर की गई डायबिटोलॉजी स्टडी में डायबिटीज के 26 फीसदी लोग ऐसे पाए गए थे जिनके परिवार में टाइप 2 डायबिटीज की हिस्ट्री रही थी. अगर आपके परिवार में भी ये बीमारी आनुवंशिक रूप से चली आ रही है तो अपना ब्लड शुगर समय-समय पर चेक कराते रहें.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×