scorecardresearch
 
लाइफस्टाइल न्यूज़

मिसेज श्रीलंका की सरेआम हुई बेइज्जती, मंच पर ही छिड़ गया संग्राम

ब्यूटी कॉन्टेस्ट के दौरान विवाद
  • 1/7

श्रीलंका में ब्यूटी कॉन्टेस्ट के दौरान विनर को लेकर स्टेज पर ही विवाद हो गया. मिसेज श्रीलंका का ताज पहनाने के बाद विजेता का नाम अचानक ही बदल दिया गया. सिर से ताज उतारने के दौरान पहले विनर घोषित की गई पुष्पिका डी सिल्वा के सिर पर चोट लग गई. इससे नाराज पुष्पिका ने ऑर्गनाइजर टीम के खिलाफ लीगल एक्शन लेने का फैसला किया है. 
 

ब्यूटी कॉन्टेस्ट
  • 2/7

यह ब्यूटी कॉन्टेस्ट श्रीलंका के राष्ट्रीय टेलीविजन पर प्रसारित हुआ था जिसमें पहले पुष्पिका डी सिल्वा को  मिसेज श्रीलंका का विजेता घोषित किया गया था. हालांकि इसके तुरंत बाद 2019 की  विजेता कैरोलिन जूरि ने डी सिल्वा के सिर ये ताज उतार लिया.
 

ब्यूटी कॉन्टेस्ट 2
  • 3/7

कैरोलिन ने कहा कि डी सिल्वा एक तलाकशुदा महिला हैं और उन्हें गलत तरीके से विजेता बनाया गया है. कैरोलिन ने डी सिल्वा के सिर से विनर का ताज उतार कर रनर-अप को पहना दिया जिसके बाद डी सिल्वा रोते हुए स्टेज से नीचे आ गईं.
 

ब्यूटी कॉन्टेस्ट 3
  • 4/7

कैरोलिन ने दर्शकों को बताया, 'इस ब्यूटी कॉन्टेस्ट का एक नियम है जिसमें तलाकशुदा महिलाएं हिस्सा नहीं ले सकती हैं. इसलिए मैं ये ताज दूसरे नंबर की विजेता को सौंप रहीं हूं.'
 

ब्यूटी कॉन्टेस्ट 4
  • 5/7

वहीं जांच के दौरान समारोह के आयोजकों ने कैरोलिन के इन दावों गलत पाया और कहा कि डी सिल्वा तलाकशुदा नहीं हैं. आयोजकों ने डी सिल्वा से इस पूरे घटनाक्रम के लिए माफी मांगी है. दरअसल डी सिल्वा अपने पति से अलग रहती हैं पर उनका तलाक नहीं हुआ है.
 

ब्यूटी कॉन्टेस्ट 5
  • 6/7

डी सिल्वा का कहना है कि वो स्टेज पर हुई अपनी इस बेइज्जती के खिलाफ लीगल एक्शन लेंगी. डी सिल्वा ने अपने फेसबुक पोस्ट के जरिए बताया कि जबरदस्ती ताज उतारने के दौरान उनके सिर में चोट लग गई और उन्हें अस्पताल जाना पड़ा.
 

 ब्यूटी कॉन्टेस्ट 6
  • 7/7

अपनी पोस्ट में डी सिल्वा ने लिखा, 'मैं तलाकशुदा नहीं हूं. एक सच्ची क्वीन वो नहीं है जो किसी दूसरी महिला का ताज छीनती है, बल्कि वो है जो चुपके से उस महिला के ताज को संवारती है.'