scorecardresearch
 
लाइफस्टाइल न्यूज़

High Cholesterol: चलते समय पैरों में नजर आते हैं हाई कोलेस्ट्रॉल के ये संकेत, ना करें इग्नोर

हाई कोलेस्ट्रॉल
  • 1/7

शरीर में कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ने का संबंध सीधे तौर पर आपकी लाइफस्टाइल से होता है. कोलेस्ट्रॉल दो प्रकार का होता है गुड कोलेस्ट्रॉल और बैड कोलेस्ट्रॉल. बैड कोलेस्ट्रॉल को काफी खराब माना जाता है. आर्टरीज में कोलेस्ट्रॉल जमा होने से ये सिकुड़ने लगती हैं और ब्लड फ्लो भी रुक जाता है. हाई कोलेस्टॉल के कुछ लक्षण पैरों में भी नजर आते हैं. आइए जानते हैं इसके बारे में-

(Photo/Credit: Getty Images) 

हाई कोलेस्ट्रॉल
  • 2/7

गलत लाइफस्टाइल जैसे हाई-फैट डाइट, स्मोकिंग, शराब का अधिक मात्रा में सेवन और एक्सरसाइज ना करने के चलते हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या का सामना करना पड़ता है. इस तरह की आदतें हार्ट हेल्थ के लिए काफी खतरनाक मानी जाती हैं. कई बार हाई कोलेस्ट्रॉल लेवल के कोई संकेत नजर नहीं आते और यह काफी धीरे-धीरे आपकी आर्टरीज में जमना शुरू हो जाता है. आर्टरीज में कोलेस्ट्रॉल जमा होने से ब्लड का फ्लो कम हो जाता है, जिससे कई तरह की बीमारियां होनी शुरू हो जाती हैं जैसे छाती में दर्द, हार्ट डिजीज और स्ट्रोक आदि. ऐसे में समय रहते हाई कोलेस्ट्रॉल के संकेतों का पता लगाना काफी जरूरी होता है. हाई कोलेस्ट्रॉल के कुछ संकेत पैरों में भी देखने को मिलते हैं.

(Photo/Credit: Getty Images) 

हाई कोलेस्ट्रॉल
  • 3/7

क्या है पेरिफेरल आर्टरी डिजीज?

शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल का लेवल बढ़ने से आर्टरीज में प्लाक जमना शुरू हो जाता है. प्लाक एक वैक्स की तरह का पदार्थ होता है जो कोलेस्ट्रॉल और बाकी चीजों से मिलकर बना होता है. आर्टरीज में बहुत ज्यादा प्लाक जमने से वह काफी सिकुड़ जाती हैं जिस कारण ब्लड का फ्लो काफी कम हो जाता है. आर्टरीज में जमने वाले फैटी प्लाक को एथेरोस्क्लेरोसिस कहा जाता है. ब्लड फ्लो रुकने के ये संकेत पैरों में नजर आने लगते हैं. इससे पैरों में पेरिफेरल आर्टरी डिजीज का सामना करना पड़ता है. पेरिफेरल आर्टरी डिजीज किसी भी रक्त कोशिका में हो सकता है, हालांकि यह पैरों में होना काफी आम है.

(Photo/Credit: Getty Images)  

हाई कोलेस्ट्रॉल
  • 4/7

चलते समय पैरों में दर्द- पेरिफेरल आर्टरी डिजीज के कारण पैरों में दर्द होता है, खासतौर पर चलते समय. यह दर्द माइल्ड या गंभीर हो सकता है. और कई बार उठते या बैठते समय पैरों में अचानक से दर्द होने लगता है. कुछ देर आराम करने पर यह दर्द अपने आप ही ठीक हो जाता है. 

(Photo/Credit: Getty Images) 

हाई कोलेस्ट्रॉल
  • 5/7

हार्ट से पैरों तक ब्लड सर्कुलेशन खराब होने के कारण दोनों पैर एक ही समय में प्रभावित हो सकते हैं, हालांकि एक पैर में दर्द ज्यादा हो सकता है. पेरिफेरल आर्टरी डिजीज के अन्य लक्षण-  पैरों में दर्द के अलावा पेरिफेरल आर्टरी डिजीज के और भी कई लक्षण होते हैं जैसे-  पैरों और टांगों के बाल झड़ना, पैर सुन्न होना और कमजोरी, पैर के अंगूठे के नाखून का धीरे-धीरे बढ़ना या आसानी से टूट जाना. पैर में अल्सर होना. पैर का रंग पीला या नीला हो जाना. पैर की मसल्स का सिकुड़ना.

(Photo/Credit: Getty Images) 

हाई कोलेस्ट्रॉल
  • 6/7

डॉक्टर से करें संपर्क- कई बार पेरिफेरल आर्टरी डिजीज के लक्षण किसी खतरनाक बीमारी के संकेत हो सकते हैं जिसका ट्रीटमेंट करना काफी जरूरी होता है. ऐसे में अगर आपको चलते समय पैरों में दर्द का सामना करना पड़ रहा है तो जरूरी है कि आप डॉक्टर को दिखाएं. अगर आपके शरीर में हाई कोलेस्ट्रॉल के कोई लक्षण नहीं भी दिख रहे तो भी रेगुलर ब्लड टेस्ट करवाते रहें. 

(Photo/Credit: Getty Images) 

हाई कोलेस्ट्रॉल
  • 7/7

कैसे करें हाई कोलेस्ट्रॉल को कम

लाइफस्टाइल में बदलाव करके आप कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम कर सकते हैं. दवाईयों के कारण भी कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम किया जा सकता है लेकिन इसके लिए पहले डॉक्टर को जरूर दिखाएं. हेल्दी डाइट जैसे फल, सब्जियां और साबुत अनाज को डाइट में शामिल करें. साथ ही जरूरी है कि आप प्रोसेस्ड और पैकेज्ड फूड का सेवन ना करें. 

(Photo/Credit: Getty Images)