scorecardresearch
 

वेज या नॉनवेज वजन घटाने के लिए क्या है बेस्ट? मोटापे से परेशान हैं तो डाइट में करें ये बदलाव

वजन कम करने के लिए लोग तरह-तरह की डाइट अपनाते हैं लेकिन उसके बाद भी वजन नहीं कर पाते हैं. हाल ही में हुए एक सर्वे में ये जानने की कोशिश की गई है कि वजन घटाने के लिए कौन सी डाइट बेहतर है.

वजन घटाने की सही डाइट वजन घटाने की सही डाइट
स्टोरी हाइलाइट्स
  • डाइट का वजन पर पड़ता है असर
  • जानें वजन कम करने की सही डाइट
  • डाइट और वजन को लेकर हुआ सर्वे

वजन घटाने को लेकर ये बहस लंबे समय से चली आ रही है कि वेजिटेरियन और नॉन वेजिटेरियन में कौन सी डाइट बेहतर होती है. लोगों की इस दुविधा को दूर करने के लिए एक सर्वे किया गया है. ये सर्वे जर्मनी के मैक्स प्लैंक इंस्टीट्यूट की तरफ से किया गया है. शोधकर्ताओं ने पाया कि प्लांट बेस्ड फूड खाने वाले लोगों का बॉडी मास इंडेक्स (BMI) कम था और इसलिए उनका वजन भी कम था.

इस स्टडी के नतीजे न्यूट्रिएंट्स पत्रिका में प्रकाशित हुए हैं. इसमें कहा गया है कि किसी व्यक्ति की डाइट में मांसाहार खाने का अनुपात जितना कम होता है, उसका बॉडी मास इंडेक्स भी उतना ही कम होता है. शोधकर्ताओं का कहना है कि ये इस वजह से है क्योंकि प्लांट डाइट की थोड़ी सी भी मात्रा पूरी तरह पेट भर देती है. ये इस पर भी निर्भर करता है कि कोई व्यक्ति कौन सा एनिमल प्रोडक्ट खा रहा है. जैसे अंडे, दूध, डेयरी प्रोडक्ट, चीज़ और मक्खन खाने वालों की तुलना में मीट, मछली खाने वाले व्यक्ति का बॉडी मास इंडेक्स आमतौर पर ज्यादा होता है. 

स्टडी के लेखर एवलिन मेडावर ने कहा, 'जिन प्रोडक्ट में फैट और शुगर ज्यादा पाया जाता है वो मोटापे को बढ़ाने का काम करते हैं. इन्हें खाने से भूख और बढ़ती है. अगर आप एनिमल फूड नहीं खाते हैं तो इस तरह के प्रोडक्ट का सेवन अपने आप ही कम हो जाएगा.'  शाकाहारी भोजन में फाइबर ज्यादा पाया जाता है और इसे खाने से शरीर पर अच्छा प्रभाव पड़ता है. एनिमल प्रोडक्ट की तुलना में शाकाहारी खाना खाने से भूख भी जल्दी नहीं लगती है.

 

 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें