scorecardresearch
 

नवरात्र में व्रत के साथ कैसे रखें सेहत का ध्यान

नवरात्र के दौरान नौ दिन तक व्रत रखना आसान बात नहीं है. ऐसे में यह जरूरी है कि आप अपने स्वास्थ्य का भी पूरा ध्यान रखें ताकि व्रत के दौरान आपकी सेहत पर कोई असर न पड़े.

नवरात्रि के व्रत में भी बने रहें स्वस्थ नवरात्रि के व्रत में भी बने रहें स्वस्थ

नवरात्र के दौरान नौ दिन तक व्रत रखना आसान बात नहीं है. ऐसे में यह जरूरी है कि आप अपने स्वास्थ्य का भी पूरा ध्यान रखें ताकि व्रत के दौरान आपकी सेहत पर कोई असर न पड़े.

इस दौरान सही डाइट फॉलो करके आप इन नौ दिनों के व्रत को बहुत आसानी से पूरा भी कर लेंगे और आपके स्वास्थ्य पर भी इसका कोई कुप्रभाव नहीे होगा. विशेषज्ञों की मानें तो व्रत करने के कई फायदे भी हैं और इसी कारण प्राचीन काल से इनका अनुपालन किया जाता रहा है. हालांकि व्रत का मतलब एकदम से खाना छोड़ देना भी नहीं है.

व्रत रखने से शरीर के भीतर मौजूद कई विषाक्त पदार्थ साफ हो जाते हैं. साथ ही हल्का खान-पान होने की वजह से यह पाचन क्रिया के लिए भी बहुत फायदेमंद है. हालांकि जरूरी यह है कि आपको व्रत करने का सही तरीका पता हो. व्रत के दौरान थोड़ी-थोड़ी देर पर कुछ-कुछ खाते रहना चाहिए और रात के वक्त फुल मील लेना चाहिए.

नवरात्रि में इस तरह तैयार करें अपना डाइट चार्ट

1. दिन की शुरुआत ग्रीन टी के साथ करें. उसके कुछ देर बाद आप दो खजूर ले सकते हैं.

2. ब्रेकफास्ट में आप चाहें तो फल, ड्राई फ्रूट और किशमिश या मुनक्का ले सकते हैं.

3. उसके बाद आप मिल्क शेक या फिर नारियल पानी ले लीजिए.

4. लंच के समय साबूदाने की खिचड़ी और एक गिलास छाछ ले सकते हैं. अगर आपको लो बीपी की समस्या है तो आप सेंधा नमक भी इस्तेमाल कर सकते हैं.

5. दिन में एक बार लंच के कुछ घंटे के अंतराल पर दही खा सकते हैं.

6. शाम के स्नैक्स के रूप में आलू चाट खाई जा सकती है.

7. रात के डिनर के तौर पर वेजिटेबल सूप लेना सबसे अधिक फायदेमंद रहेगा. इसके अलावा कुट्टू के आटे की पूड़ियां और आलू की सब्जी ली जा सकती है.

8. सोने से पहले एक गिलास हल्का गुनगुना दूध पीना अच्छा रहेगा.

हालांकि कई बार यह भी कहा जाता है कि व्रत के दौरान खट्टे फलों के सेवन से बचना चाहिए क्योंकि इससे एसिडिटी हो सकती है लेकिन यह सही नहीं है. व्रत के दौरान फलों का सेवन करना सबसे अधिक फायदेमंद होता है. कई लोग ऐसे होते हैं जिन्हें व्रत करने का सही तरीका पता नहीं होता. अगर आपको कमजोरी की शि‍कायत रहती है या कोई और बीमारी है तो व्रत के दौरान संभलकर रहें और अपनी डाइट जरा ध्यान से लें.

क्या हो सकते हैं परिणाम:

- कमजोरी होना और चक्कर आना
- शुगर लेवल कम हो जाना
-
सही तरीके से नींद न आना
- ताकत की कमी
- हर समय कमजोरी लगना

किन लोगों को नहीं रखना चाहिए व्रत
मधुमेह के मरीजों और गर्भवती महिलाओं को व्रत करने से परहेज करना चाहिए. व्रत रखने से शुगर लेवल कम हो सकता है और यह ठीक नहीं है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें