scorecardresearch
 

आम खाने से मोटापा बढ़ता है और इम्यूनिटी होती है कमजोर? जानें- क्या कहते हैं एक्सपर्ट

जून की भरी गर्मी के बीच कोरोना की मार झेल रहे आम के बागानों की देख-रेख करने वालों की दिक्कतें बढ़ती जा रही हैं. दूसरी ओर कुछ युवाओं की गलत धारणा है कि आम मोटापा बढ़ाता है और ये इम्यूनिटी को कमजोर करता है. आम का मौसम आ चुका है. कोरोना कर्फ्यू के कारण आम किसानों को पहले ही घाटा हो चुका है. किसान अपनी लागत निकालने की कोशिश कर रहे हैं. ऐसे में युवाओं में फैली भ्रांति उनकी मुश्किलें बढ़ा रही हैं.

Photo: Getty Images Photo: Getty Images
स्टोरी हाइलाइट्स
  • आम को लेकर हैं कई तरह की गलत धारणाएं
  • इम्युनिटी और मोटापे को लेकर हैं भ्रांतियां
  • आम किसानों को हो रहा घाटा

जून की भरी गर्मी के बीच कोरोना की मार झेल रहे आम के बागानों की देख-रेख करने वालों की दिक्कतें बढ़ती जा रही हैं. दूसरी ओर कुछ युवाओं में गलत धारणा है कि आम मोटापा बढ़ाता है. आम का मौसम आ चुका है. कोरोना कर्फ्यू के कारण आम किसानों को पहले ही घाटा हो चुका है. किसान अपनी लागत निकालने की कोशिश कर रहे हैं. ऐसे में युवाओं में फैली भ्रांति उनकी मुश्किलें बढ़ा रही हैं.

वरिष्ठ आयुर्वेदिक चिकित्सक सचिव आरोग्य भारती अवध प्रांत वैद्य अभय नारायण के मुताबिक, आम में काफी ज्यादा मात्रा में कॉपर होता है. वह शक्ति वर्धक पुष्टि कारक और हृदय को शक्ति देने वाला क्रांतिकारक और शीतल होता है. लेकिन जो आम थोड़ा मीठा होता है, वह अग्नि कफ और शुक्र आवर्धक होता है. वहीं जो पेड़ पर पूरी तरह से पक जाता है, वह शीतल, वात पत्र नाशक और तेजी से पचने वाला होता है. हालांकि इसे खाने से मोटा होना एक भ्रम है. लेकिन भोजन के समान सोच-समझकर ही इसका सेवन करना चाहिए. अधिक सेवन नुकसानदायक हो सकता है.

योगाचार्य प्रतिष्ठा माहेश्वरी करीब 5 सालों से योग सिखा रहे हैं और जिन्हें योग में महारत हासिल है. उनका कहना है कि आम का फल तरल होता है और वह हमारी मांसपेशियों पर इतना प्रभाव नहीं डालता है. हालांकि हर व्यक्ति को योग नियमित रूप से करना चाहिए. प्राणायाम जैसे योग करने से हमारा डायजेशन सिस्टम दुरुस्त रहता है. आम को खाने से मोटा होना ये महज किसी भ्रम की तरह है.

डॉ. अशोक कुमार मिश्रा एमडी मेडिसिन वरिष्ठ फिजीशियन के मुताबिक, आम खाने से इस तरीके की कोई दिक्कत नहीं होती है. लेकिन सबसे बड़ी बात अगर किसी भी चीज का अत्यधिक सेवन करेंगे तो समस्या आएगी. बाकी आम में थोड़ा कार्बेट भी होता है, जो एक्स्ट्रा फैट बढ़ा सकता है. इस वजह से इसके साइड इफेक्ट बढ़ सकते हैं.

फरहीन अली डाइट एक्सपर्ट, पीसीसीएम किंग जॉर्ज मेडिकल कॉलेज लखनऊ के मुताबिक, आम 'फलों का राजा' है. गर्मियों में हर कोई इसे पसंद करता है. लेकिन एक मिथक है कि अगर हम आम खाते हैं तो इससे हमारा वजन बढ़ जाएगा. दरअसल सही क्वांटिटी में इसे खाने से ऐसा कभी नहीं होता है. यह आपका वजन नहीं बढ़ा पाएगा. 100 ग्राम आम में 60 कैलोरी होती है. अगर कोई व्यक्ति अलग-अलग समय पर रोजाना 1-2 आम खा रहा है और कैलोरी को भी मॉनिटर कर रहा है तो उसका वजन नहीं बढ़ेगा. कोरोना के खतरे के बीच भी हम आम खा सकते हैं, क्योंकि इसमें विटामिन-सी अच्छी मात्रा में होता है. यह रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाला फल है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें