scorecardresearch
 

गौतमबुद्ध नगर: एकतरफा प्यार में भांजे ने मामी को मार डाला था, 9 साल बाद कोर्ट ने सुनाई उम्र कैद की सजा

गौतमबुद्ध नगर में 9 साल पहले मामी की हत्या के दोषी और उसके दोस्त को जिला कोर्ट ने उम्रकैद की सजा सुनाई है. प्यार के इजहार के बाद भांजे ने अपने दोस्त के साथ मिलकर मामी की चाकू गोदकर हत्या कर दी थी.

X
सांकेतिक तस्वीर. सांकेतिक तस्वीर.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मामा के डांटने के बाद गुस्से में की थी मामी की हत्या
  • मशक्कत के बाद पुलिस ने दोनों आरोपियों को किया था अरेस्ट

एकतरफा प्यार में मामी की हत्या करने वाले भांजे को कोर्ट ने उम्रकैद की सजा सुनाई है. 9 साल बाद गौतमबुद्ध नगर कोर्ट ने आरोपी और उसके दोस्त को उम्रकैद की सजा दी है. वारदात 24 जुलाई 2013 की है. मूल रूप से मुजफ्फरनगर के रहने वाले पंकज त्यागी ग्रेटर नोएडा के बीटा-2 इलाके में अपनी पत्नी नेहा त्यागी से साथ रहते थे.

24 जुलाई 2013 को पंकज त्यागी ड्यूटी पर गए हुए थे. पंकज पेशे से इंजीनियर हैं. इसी दौरान उनका भांजा आकाश अपने दोस्त राहुल के साथ उनके घर पर आया और पंकज की पत्नी यानी अपनी मामी से प्रेम प्रस्ताव रखा. 

मामा के डांटने के बाद गुस्से में की थी मामी की हत्या

आकाश ने अपनी मामी से कहा कि मैं आपसे प्यार करता हूं और शादी करना चाहता हूं. विरोध करने पर आकाश वहां से चला गया. उधर, पंकज जब घर लौटा तो पत्नी ने उसे सारी बातें बताई. इसके बाद पंकज ने आकाश को डांट लगाई. इसके बाद आकाश ने गुस्से में राहुल के साथ मिलकर नेहा की चाकू से गोदकर हत्या कर दी थी. वारदात को अंजाम देने के बाद दोनों ने बाथरूम में जाकर अपने कपड़े बदल लिए थे और फिर घटनास्थल से से फरार हो गए थे.

मशक्कत के बाद पुलिस ने दोनों आरोपियों को किया था अरेस्ट

मामला दर्ज करने के बाद पुलिस ने काफी मशक्कत के बाद आकाश और राहुल को गिरफ्तार किया था. कोर्ट में मामले की सुनवाई के दौरान पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ पर्याप्त सबूत पेश किए थे. कोर्ट ने गवाहों के बयान और पर्याप्त सबूतों के आधार पर फैसला सुनाते हुए आकाश और राहुल को उम्रकैद की सजा सुनाई है.

ये भी पढ़ें

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें