scorecardresearch
 

Uttarakhand Weather: उत्तराखंड के चमोली में जमकर बर्फबारी, IMD ने जारी किया येलो अलर्ट

Weather Update Today: बद्रीनाथ धाम, औली नीती और माणा घाटी सहित चमोली की तमाम ऊंचाई पर स्थित जगहों में बर्फबारी के चलते कुछ इंच बर्फ जम गई. ठंड को दूर करने के लिए लोग गरम कपड़े और अलाव का सहारा ले रहे हैं.

X
Uttarakhand Snofall Weather Update Uttarakhand Snofall Weather Update
स्टोरी हाइलाइट्स
  • चमोली में मौसम ने ली करवट
  • बर्फबारी और बारिश से बढ़ी ठंड

Uttarakhand Snowfall Weather: IMD Yellow Alert for Chamoli: उत्तराखंड में पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी और बारिश के चलते मौसम ने करवट ली है. राज्य में कड़ाके की ठंड शुरू हो गई है. चमोली जिले में मंगलवार सुबह से ही जमकर बर्फबारी हो रही है. बद्रीनाथ धाम, औली नीती और माणा घाटी सहित चमोली की तमाम ऊंचाई पर स्थित जगहों में बर्फबारी के चलते कुछ इंच बर्फ जम गई. ठंड को दूर करने के लिए लोग गरम कपड़े और अलाव का सहारा ले रहे हैं. उधर, उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों के लिए मौसम विभाग (IMD) ने येलो अलर्ट (Yellow Alert for Uttarakhand) जारी किया है. मौसम विभाग ने अनुमान जताया है कि राज्य के पहाड़ी इलाकों में अगले पांच दिनों तक बर्फबारी हो सकती है.

पहाड़ों पर एका-एक मौसम बदलने से जबरदस्त सर्दी का सितम देखने को मिल रहा है. बाजारों में भी ऊनी और गरम कपड़ों की डिमांड बढ़ गई है. कोरोना महामारी के बावजूद भी देश के कोने-कोने से पर्यटक बर्फबारी का आनंद उठाने के लिए राज्य के पर्यटन स्थलों पर पहुंच रहे हैं. मशहूर पर्यटन स्थल और स्कीईंग की ढलानो के लिए देश-दुनिया में माना जाने वाला स्कीईंग रिजॉर्ट, औली एक बार फिर से देर रात से ही बर्फबारी के दौर से गुजर रहा है. यहां बर्फबारी के दौरान ही पर्यटक पहुंचने शुरू हो गए थे. इस बार औली में दिसंबर से ही बर्फबारी शुरू हो गई थी जोकि अब भी लगातार जारी है.

मौसम विभाग का येलो अलर्ट और लगातार हो रही बर्फबारी के बाद औली एक बार फिर से बर्फ की आगोश में आ गया है. यहां पहुंचे पर्यटक जमकर बर्फ का आनंद उठा रहे हैं. औली में गाड़ियां, मकान, होटल, पेड़-पौधे सब कुछ बर्फ की आगोश में दिखाई दे रहे हैं. भगवान विष्णु के प्रसिद्ध धाम बद्रीनाथ के यहां मंगलवार देर शाम से ही बर्फबारी शुरू हो गई थी. अब तक यहां पर आधी फीट से अधिक बर्फ जम चुकी है. बताते चलें इस समय भगवान बद्री विशाल के कपाट शीतकाल के लिए बंद है. ऐसे में यहां सिर्फ मंदिर की सुरक्षा में तैनात जवान ही मौजूद हैं, जिनके लिए यहां इस समय रहना किसी चुनौती से कम नहीं है.

भगवान बद्री विशाल के मंदिर सहित यहां मकान, दुकान सबकुछ बर्फ की आगोश में आ चुके हैं. इस बार बद्रीनाथ धाम में जबरदस्त बर्फ गिरने की उम्मीद है. कहते हैं कि शीतकाल में यहां देवता भगवान बद्री विशाल की पूजा अर्चना करते हैं. इस समय शीतकाल चल रहा है ऐसे में यहां कुदरत जमकर बर्फ़बारी कर रही है. उधर, बद्रीनाथ धाम से तीन किलोमीटर दूर माणा में भारतीय सेना और आईटीबीपी के जवान भी देश की सीमा की सुरक्षा में इस मौसम में भी तैनात हैं. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें