scorecardresearch
 

उत्तराखंड, हिमाचल में जबरदस्त बर्फबारी, 9 जनवरी तक राहत नहीं

snowfall in Uttarakhand and Himachal Pradesh उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश के कई इलाकों में जबरदस्त बर्फबारी हो रही है. केदारनाथ में पारा माइनस 4 डिग्री, शिमला के पास कुफरी में तापमान माइनस 3, केलाग में माइनस 8.7 डिग्री तक पहुंच गया.

उत्तराखंड में हुई बर्फबारी उत्तराखंड में हुई बर्फबारी

उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में हो रही बर्फबारी रुकने का नाम नहीं ले रही है. हिमाचल प्रदेश के कई इलाकों में रविवार को भारी बर्फबारी हुई. आशंका है 9 जनवरी तक हिमपात से राहत नहीं मिलेगी. सभी दिक्कतों के बावजूद बड़ी संख्या में पर्यटक पहाड़ी इलाकों में पहुंच रहे हैं. वहीं, उत्तराखंड में भी इन दिनों जबरदस्त बर्फबारी हो रही है. केदारनाथ और बद्रीनाथ पूरी तरह से बर्फ से ढक गए हैं.

जबरदस्त बर्फबारी के बीच पहाड़ों की रानी शिमला का हाल सबसे बुरा है. साल की पहली बर्फबारी लोगों के लिए मुसीबत बनकर बरस रही है. बर्फबारी के बीच सैलानी तो आनंद उठा रहे हैं लेकिन शहर की रफ्तार थम गई है. सैलानियों को भी गाड़ी छोड़कर पैदल घूमना पड़ रहा है. सड़कों पर बर्फ की वजह से फिसलन बढ़ गई है. गाड़ियां चल भी रहीं हैं तो रेंगकर. हालत ये है कि कई जगह डेढ़ फीट से ज्यादा बर्फ जमी हुई है. तापमान माइनस में है.

मौसम विभाग की माने तो 9 जनवरी तक राहत मिलने के आसार कम हैं. रविवार को शिमला के पास कुफरी में तापमान माइनस 3 डिग्री तक लुढ़क गया. केलाग में माइनस 8.7 डिग्री तापमान ने शरीर जमा दिया तो कलपा में माइनस 3.7 डिग्री तापमान रिकॉर्ड किया गया. कुल्लू के कोठी में 70 सेंटीमीटर तक रिकॉर्ड बर्फबारी हुई है.

ताजा हिमपात और बारिश से धर्मशाला शहर का न्यूनतम पारा 1.2 डिग्री तक पहुंच गया. शनिवार से रविवार सुबह तक मौसम विभाग ने धर्मशाला में 22.6 मिली मीटर बारिश रिकॉर्ड की. जबकि रविवार सुबह आठ बजे से शाम पांच बजे तक 10.2 मिलीमीटर बारिश दर्ज हुई.

उत्तराखंड के बाबा केदार के दरबार में बर्फबारी ने विकराल रूप ले लिया है. चार जनवरी की रात से यहां लगातार बर्फबारी हो रही है. बर्फबारी की वजह से केदारधाम में जारी पुनर्निमाण के काम में काफी दिक्कत आ रही है. दो दिन से काम रुका पड़ा है. इतनी जबरदस्त ठंड में मजदूर काम नहीं कर पा रहे हैं. मशीनें तक जाम हो गई हैं.

अब तक केदारधाम में 3 फीट से ज्यादा बर्फबारी हो चुकी है. केदारनाथ में पारा माइनस 4 डिग्री तक पहुंच चुका है. केदारनाथ से बहने वाली सरस्वती और मंदाकिनी नदी के ऊपर भी बर्फ जम चुकी है. रुद्रप्रयाग जिले में मिनी स्वीटजरलैंड के नाम से मशहूर पर्यटक स्थल चोपता में भी जमकर बर्फबारी हुई है. चोपता से पांच किमी पहले से ही मोटरमार्ग बर्फबारी के चलते बंद है. कई सैलानी यहां पैदल चलकर पहुंच रहे हैं.

औली में सुबह से बर्फबारी का दौर जारी है जिसके बाद निचले इलाकों में कड़ाके की ठंड पड़ रही है. आज के लिए मौसम विभाग के अलर्ट को देखते हुए सभी जिलों में प्रशासन को अलर्ट रहने को कहा गया है. उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग, बागेश्वर, पिथौरागढ़ में भारी बर्फबारी की आशंका है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें