scorecardresearch
 

इंजीन‍ियर‍िंग की पढ़ाई से स‍िव‍िल सर्व‍िस तक, IAS सुहास LY ने बताई अपनी कहानी

इंजीन‍ियर‍िंग की पढ़ाई से स‍िव‍िल सर्व‍िस तक, IAS सुहास LY ने बताई अपनी कहानी

भारत के बैडमिंटन खिलाड़ी और नोएडा के डीएम सुहास एल वाई ने टोक्यो पैरालंपिक में सिल्वर मेडल जीतकर दुनियाभर में भारत का नाम रोशन कर दिया है. इन खेलों में भारत की पदक संख्या 19 पर पहुंच गई है. सुहास उत्तर प्रदेश कैडर के 2007 बैच के भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) के अधिकारी हैं. गौतमबुद्ध नगर (नोएडा) के जिलाधिकारी सुहास पैरालंपिक में पदक जीतने वाले पहले आईएएस अधिकारी भी बन गए हैं. इस ऐतिहासिक जीत के बाद सुहास एल वाई और उनकी पत्नी ऋतु सुहास ने आजतक से खास बीतचीत की है. इस खास बातचीत के दौरान सुहास ने बताई अपने संघर्ष और कामयाबी की कहानी. ज्यादा जानकारी के लिए देखें वीडियो.

Suhas Lalinakere Yathiraj clinched the silver medal at Paralympics badminton in Tokyo, Japan. In doing so, the 38-year-old district magistrate of Gautam Buddh Nagar (Noida) also became the first-ever IAS officer to have not only participated but also won a medal in the Paralympics. In an exclusive interaction with AajTak, Suhas LY shared his life journey. Watch the video.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें