scorecardresearch
 

यूपी: कोरोना से अनाथ हुए बच्चों की देखभाल करेगी योगी सरकार, हर महीने देगी 4 हजार रुपये

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यूपी सरकार ऐसे बच्चों के वयस्क होने तक 4000 रुपये प्रति माह वित्तीय सहायता उपलब्ध कराएगी, ये सहायता उनके केयरटेकर को दी जाएगी. वहीं, 10 साल से कम आयु के ऐसे बच्चे जिनका कोई केयरटेकर नहीं है, उनके आवास की व्यवस्था बाल गृह में की जाएगी, जिसका ख़र्च सरकार उठाएगी. 

सीएम योगी (फाइल फोटो-PTI) सीएम योगी (फाइल फोटो-PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कोरोना से अनाथ हुए बच्चों के लिए सीएम योगी का फैसला
  • अनाथ हुए बच्चों की देखभाल करेगी योगी सरकार

कोरोना संकट के बीच यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने बड़ा ऐलान किया. योगी सरकार ने कोरोना के कारण अनाथ हुए बच्चों के संरक्षण और उनकी देखभाल के लिए एक विशेष योजना को लागू करने का निर्णय लिया है. 'उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना' के नाम पर ये योजना संचालित होगी. 

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यूपी सरकार ऐसे बच्चों के वयस्क होने तक 4000 रुपये प्रति माह वित्तीय सहायता उपलब्ध कराएगी, ये सहायता उनके केयरटेकर को दी जाएगी. वहीं, 10 साल से कम आयु के ऐसे बच्चे जिनका कोई केयरटेकर नहीं है, उनके आवास की व्यवस्था बाल गृह में की जाएगी, जिसका ख़र्च सरकार उठाएगी. 

दरअसल, कोरोना काल में कई बच्चों ने अपने माता-पिता को खो दिया है. ऐसे में योगी सरकार ने शनिवार को एक योजना बनाई, जिसके तहत अब बच्चों को सरकार आर्थिक मदद देगी. सीएम योगी ने बीते दिनों कोरोना महामारी के कारण अनाथ हुए यूपी के बच्चों की जिम्मेदारी लेने का ऐलान किया था.

सीएम योगी ने शनिवार को कहा कि कोरोना के दौरान जिन बच्चों ने अपने माता-पिता को खो दिया है, उनकी पूरी जिम्मेदारी प्रदेश सरकार उठाएगी. यही नहीं कोरोना काल में अनाथ हुई बेटियों की शादी में भी सरकार 1.10 लाख रुपये तक की मदद देगी. 

आपको बता दें कि कोरोना में अनाथ हुए बच्चों की पढ़ाई, उनकी शादी का खर्च, ऑनलाइन पढ़ाई के लिए लैपटॉप और टैबलेट, परवरिश के लिए हर महीने 4 हजार रुपये, अनाथ बालिकाओं की शादी के लिए 1.10 लाख की सहायता आदि बड़े ऐलान योगी सरकार ने किये हैं. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें