scorecardresearch
 
उत्तर प्रदेश

सैफई: जहां उतरे थे CM योगी, 'सपा कार्यकर्ता' ने गंगाजल छिड़क किया 'शुद्ध'

सपा कार्यकर्ता ने उन जगहों पर गंगा जल छिड़का जहां सीएम योगी गए थे
  • 1/5

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ स्वास्थ्य व्यवस्था का जायजा लेने के लिए 22 मई को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मुलायम-अखिलेश के गढ़ सैफई गए थे. जहां पर उन्होंने कोविड अस्पताल, ऑक्सीजन गैस प्लांट और गांव गीजा का भी निरीक्षण किया था.  सैफई से लौटने के बाद समाजवादी पार्टी के एक कार्यकर्ता ने उस जगह को गंगा जल से शुद्ध किया जहां पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने अपने कदम रखे थे. इस घटना का वीडियो वायरल होने के बाद राजनीति शुरू हो गई है. 

सपा कार्यकर्ता ने उन जगहों पर गंगा जल छिड़का जहां सीएम योगी गए थे
  • 2/5

लाल टोपी लगाए युवक ने अपने आपको समाजवादी पार्टी का कार्यकर्ता बताया. उसका कहना है कि जहां, जहां पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने अपने कदम रखे थे उस जगह को गंगा जल से शुद्ध किया. यह युवक मैनपुरी जनपद के कस्बा भोगांव इलाके के महोली खेड़ा का रहने वाला है.  इसका नाम रोहित यादव है जो कि समाजवादी पार्टी से जुड़ा हुआ है.   

सपा कार्यकर्ता ने उन जगहों पर गंगा जल छिड़का जहां सीएम योगी गए थे
  • 3/5

वीडियो में एसपी कार्यकर्ता रोहित यादव का कहना है कि वो यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से इसलिए नाराज हैं क्योंकि साल 2017 में योगी ने प्रदेश की कमान संभाली थी. जिसके बाद योगी आदित्यनाथ ने पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के कालिदास मार्ग पर बने सरकारी बंगले को गंगाजल से शुद्ध कराया था. जिससे रोहित काफी नाराज था इसलिए वह इस बार योगी आदित्यनाथ के जाने के एक दिन बाद सैफई के एथलेटिक स्टेडियम पर पहुंचा जहां पर उसने हेलीपैड के आसपास गंगाजल का छिड़का. 

सपा कार्यकर्ता ने उन जगहों पर गंगा जल छिड़का जहां सीएम योगी गए थे
  • 4/5

रोहित ने अपनी सीएम योगी के प्रति नाराजगी जाहिर करते हुए एक वीडियो भी बनाया. इस वीडियो में रोहित के सिर पर लाल टोपी और हाथ में गंगाजल की बोतल है जिससे वो जगह जगह पर गंगाजल का छिड़काव कर रहा है. इसके साथ में दूसरा युवक रवि रघुराज नाम वीडियो बना रहा है.  

Yogi Adityanath (ANI Photo)

सपा कार्यकर्ता ने उन जगहों पर गंगा जल छिड़का जहां सीएम योगी गए थे
  • 5/5

इस वायरल वीडियो की कोई भी अधिकारिक पुष्टि नहीं की जा रही है. साथ ही इटावा से समाजवादी पार्टी के जिला अध्यक्ष गोपाल यादव ने फोन पर बताया कि लोगों में नाराजगी हो सकती है. लेकिन यह युवक समाजवादी पार्टी के इटावा का यह कार्यकर्ता नहीं है और साथ ही हमारी पार्टी की तरफ से इस तरह का कोई भी निर्देश नहीं दिया गया था, हमें भी इसकी जानकारी वीडियो के माध्यम से हुई है.