scorecardresearch
 

यूपी की छात्राओं के जल्द आएंगे अच्छे दिन, योगी सरकार सौंपेगी स्कूटी की चाबी

योगी सरकार अपने चुनावी वादे के मुताबिक जल्द ही राज्य की मेधावी छात्राओं को स्कूटी देने के लिए कार्यक्रम का आयोजन करेगी. यूपी में उच्च शिक्षा विभाग के 100 दिन के एक्शन प्लान में भी इसे शामिल किया गया है.

X
सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • यूपी की छात्राओं के लिए आई अच्छी खबर
  • योगी सरकार जल्द मेधावी छात्राओं को देगी स्कूटी

उत्तर प्रदेश की सत्ता में दोबारा वापसी करने के बाद अब योगी सरकार जल्द ही छात्राओं को स्कूटी देने वाली है. उच्च शिक्षा विभाग ने इसका प्रस्ताव तैयार कर लिया है. बता दें कि बीजेपी ने चुनाव से पहले संकल्प पत्र में छात्राओं को स्कूटी देने का ऐलान किया था.

स्कूटी बारहवीं पास मेधावी छात्राओं को दी जाएगी. उच्च शिक्षा विभाग के 100 दिन के एक्शन प्लान में इस प्रस्ताव को शामिल किया गया है. छात्राओं की संख्या के लिए ज़िलों से भी प्रस्ताव मांगा गया है.

चुनाव से पहले प्रियंका गांधी ने भी कांग्रेस की सरकार बनने के बाद स्कूटी देने की घोषणा की थी. बीजेपी ने इसके बाद संकल्प पत्र में स्कूटी देने का वायदा जोड़ा था.

ये स्कूटी बारहवीं पास मेधावी छात्राओं की दी जाएगी, जिस पर काम शुरू कर दिया गया है. 100 दिन के अंदर स्कूटी देने की कार्य योजना बनाई जा रही है. टैबलेट और स्मार्टफोन की तरह ही हर ज़िले में इसके लिए कार्यक्रम का आयोजन होगा.

कॉलेज जाने वाली मेधावी छात्राओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए रानी लक्ष्मी बाई योजना के तहत यह मुफ्त स्कूटी दी जाएगी. इसके अलावा बीजेपी ने अपने चुनावी घोषणा पत्र में 60 वर्ष से अधिक उम्र की महिलाओं के लिए सार्वजनिक परिवहन में मुफ्त यात्रा की व्यवस्था,  इच्छुक युवाओं को अभ्युदय योजना के तहत USPC, UPPSC, NDA, CDS, JEE, NIIT, TIT, क्लैट और अन्य प्रतियोगी परिक्षाओं के लिए फ्री कोचिंग और प्रशिक्षण अकादमियों की स्थापना कर OBC युवाओं को सभी प्रतियोगी परिक्षाओं की मुफ्त कोचिंग देने का ऐलान किया था.

वहीं चुनाव से पहले कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने जो घोषणापत्र जारी किया था उसमें उन्होंने छात्राओं को स्मार्टफोन और स्कूटी देने का वादा किया था. इसके साथ ही बुजुर्ग महिलाओं और विधवाओं को हर महीने 1 हजार रुपये पेंशन देने का ऐलान कांग्रेस की तरफ से किया गया था. हालांकि यूपी में कांग्रेस चुनाव बुरी तरह हार गई थी.

ये भी पढ़ें: 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें