scorecardresearch
 

मथुरा: Yamuna Expressway पर आपस में टकराईं कई गाड़ियां, मच गई चीख पुकार

मथुरा (Mathura) के थाना बलदेव इलाके में यमुना एक्सप्रेस वे (Yamuna Expressway ) के माइलस्टोन 126 के पास घने कोहरे के चलते कई गाड़ियां आपस में टकरा गईं. इस हादसे में आधा दर्जन लोग घायल हो गए. घायलों को आनन-फानन में उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है. 

X
Accident Accident
स्टोरी हाइलाइट्स
  • घटनास्थल पर पहुंचकर पुलिस ने घायलों को पहुंचाया अस्पताल
  • तय ​स्पीड से ज्यादा रफ्तार में चलते हैं वाहन

मथुरा (Mathura) के थाना बलदेव इलाके में यमुना एक्सप्रेस वे (Yamuna Expressway) के माइलस्टोन 126 के पास घने कोहरे के चलते कई गाड़ियां आपस में टकरा गईं. इस हादसे में आधा दर्जन लोग घायल हो गए. घायलों को आनन-फानन में उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है. 

यमुना एक्सप्रेस वे (Yamuna Expressway) पर घने कोहरे के चलते बलदेव इलाके में करीब आधा दर्जन वाहन एक दूसरे से आपस में टकरा गए. इस हादसे में घायल हुए लोगों की चीख पुकार सुनकर आसपास के लोग भागकर घटनास्थल पर पहुंचे.

आनन-फानन में पहुंची पुलिस ने बड़ी मुश्किल से वाहनों में फंसे लोगों को निकाला और इलाज के लिए जिला अस्पताल पहुंचाया. घने कोहरे के चलते एक्सप्रेस वे पर यह हादसा हुआ है. आपको बता दें कि यमुना एक्सप्रेस वे पर स्पीड नियंत्रण के लिए यमुना एक्सप्रेस वे अथॉरिटी द्वारा स्पीड भी नियंत्रित किए जाने की घोषणा की गई है, लेकिन वाहन फिर भी रफ्तार से दौड़ रहे हैं.

कोहरे में कम हो जाती है विजिबिलिटी

यमुना प्राधिकरण के अधिकारियों का कहना है कि हर साल इस तरह के इंतजाम किए जाते हैं, घने कोहरे के चलते विजिबिलिटी कम हो जाती है और हादसे की संभावनाएं ज्यादा बढ़ जाती हैं. इसको लेकर यमुना प्राधिकरण ने यमुना एक्सप्रेस-वे पर वाहनों की रफ्तार काम करने का फैसला लिया गया है.

कोहरे में स्पीड बनती है हादसे की वजह

सर्दी आते ही सुबह और शाम को कोहरा छाने लगता है. कोहरे के बीच वाहनों की स्पीड कई बार हादसों का कारण बन जाती है. इन हादसों को रोकने के लिए यमुना प्राधिकरण ने वाहनों की रफ्तार कम करने का फैसला लिया है. 15 दिसंबर से यमुना एक्सप्रेस-वे पर वाहनों की अधिकतम गति सीमा 100 से घटकर 80 किलोमीटर प्रति घंटा हो जाएगी.

तय की गई गति सीमा में ही चलाएं वाहन

यमुना एक्सप्रेस वे के ऑपरेशंस हेड संतोष पंवार ने बताया कि अब हल्के वाहन 80 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से चल सकेंगे. भारी वाहन 80 से घटकर 60 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से चल सकेंगे. ये स्पीड लिमिट 15 दिसंबर से 15 फरवरी तक के लिए लागू की गई है. लोगों को तय की गई गति सीमा में ही वाहन चलाना चाहिए. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें