scorecardresearch
 

अखिलेश यादव की हुंकार, बोले- सत्ता में वापसी कर रचेंगे इतिहास

अखिलेश ने आइपीएस सप्ताह में पुलिस अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा, 'लोग कहते हैं कि उत्तर प्रदेश में सरकारें कभी दोहरायी नहीं जाती. मैंने जब से काम शुरू किया है,  सभी क्षेत्रों में इतिहास बना रहा हूं और मुझे यकीन है कि इस बार भी इतिहास बनेगा और मैं एक बार फिर मैं आप सबके साथ बैठकर भावी रणनीतियां तैयार करूंगा.'

यूपी के सीएम अखि‍लेश यादव यूपी के सीएम अखि‍लेश यादव

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने शनिवार को दावा किया कि विकास कार्यों के दम पर वह एक बार फिर सत्ता में वापसी कर इतिहास रचेंगे. उन्होंने कहा, 'लोग कहते हैं कि उत्तर प्रदेश में सरकारें कभी दोहरायी नहीं जाती. मैंने जब से काम शुरू किया है, सभी क्षेत्रों में इतिहास बना रहा हूं और मुझे यकीन है कि इस बार भी इतिहास बनेगा और मैं एक बार फिर मैं आप सबके साथ बैठकर भावी रणनीतियां तैयार करूंगा.'

अखिलेश ने आइपीएस सप्ताह में पुलिस अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा, 'हर कोई चुनाव की तारीख का इंतजार कर रहा है और यदि कोई सबसे ज्यादा चुनावों का इंतजार कर रहा है, तो वो मैं हूं ... मैंने जब लखनऊ मेट्रो (ट्रायल रन) को हरी झंडी दिखायी, तभी से मैं चुनावों के लिए तैयार हूं.'

भागें वे जिन्होंने जनता को तकलीफ दी
नोटबंदी से लोगों को हो रही परेशानियों का परोक्ष उल्लेख करते हुए अखिलेश ने कटाक्ष किया कि जिन्होंने जनता को तकलीफ दी है, वे चुनाव से भाग सकते हैं. उन्होंने कहा कि वह उन वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए बाध्य हुए थे, जिन्हें फतेहपुर के एक बैंक के बाहर लाठीचार्ज कर दूसरों की गलतियों का खामियाजा भुगतना पडा था. गौरतलब है कि पिछले महीने एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें पुलिस वालों को फतेहपुर जिले के एक बैंक के बाहर लाइन लगाए लोगों पर लाठीचार्ज करते दिखाया गया था. मुख्यमंत्री ने पुलिस अधीक्षक और थानाप्रभारी को निलंबित कर दिया था. घटना का जिक्र करते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि उन्होंने पुलिस महानिदेशक से कहा था कि ऐसा कुछ करें कि बैंकों की कतार में खड़े लोगों पर पुलिस बल को लाठचार्ज नहीं करना क्योंकि अन्य के खिलाफ लोगों में जो गुस्सा है, वह हम पर फूट सकता है.


इस बीच अटकलें हैं कि चुनाव की तारीखें जल्द घोषित हो सकती हैं. चुनाव आयोग ने पांच राज्यों की सरकारों कहा है कि बोर्ड परीक्षाओं की तारीख ऐलान करने से पहले आयोग से सलाह मशविरा किया जाए. इन्हीं पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. आयोग ने उत्तर प्रदेश सरकार से कहा है कि वह आयोग से विचार-विमर्श कर अगले साल होने वाली राज्य बोर्ड परीक्षाओं की तारीख पुनर्निर्धारित करे, ताकि विधानसभा चुनावों की तारीख से कोई टकराहट ना हो.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें