scorecardresearch
 

यूपी: कल फिर है जुमे की नमाज, पुलिस ने तैनात किए ड्रोन, अतिरिक्त फोर्स भी तैयार

उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए खास तैयारी की जा रही है. कल फिर जुमे की नमाज है, ऐसे में पुलिस सक्रिय हो गई है और पूरे प्रदेश में सुरक्षा को बढ़ा दिया गया है.

X
यूपी में हुई थी पिछले शुक्रवार हिंसा
यूपी में हुई थी पिछले शुक्रवार हिंसा
स्टोरी हाइलाइट्स
  • तीन जून को कानपुर में हुई थी हिंसा
  • पिछले हफ्ते सुलगे प्रयागराज-सहारनपुर

उत्तर प्रदेश में पिछले दो शुक्रवार से हिंसा का दौर देखने को मिला है. जुमे की नमाज के बाद पहले तीन जून को कानपुर में हंगामा हुआ तो अगले हफ्ते प्रयागराज, सहारनपुर, मुरादाबाद जैसे इलाकों में भी जमकर बवाल काटा गया. अब फिर कल जुमे की नमाज है, कानून व्यवस्था बनाए रखना बड़ी चुनौती साबित हो रहा है. ऐसे में पुलिस ने जमीन पर खास तैयारी है. हर तरह की स्थिति से निपटने के लिए एक प्लान बना लिया गया है.

आजतक ने जब एडीजी प्रशांत कुमार से बात की तो उन्होंने दो टूक कहा कि हर हाल में शांति व्यवस्था बनाई रखी जाएगी. वे कहते हैं कि धर्म गुरुओं, पीस कमेटी के मेंबर्स के साथ वार्ता की गई. सभी जोन के adg, ig range से लेकर चौकी इंचार्ज ने तक डिजिटल वोलेंटर्स से बात की है ताकि सोशल मीडिया पर फैलने वाली हर अफवाह पर नजर रखी जा सके. ये भी कहा गया है कि प्रदेश भर में 132 कंपनी, pac की 10 कंपनी और CAPF की तैनाती कर दी गई है. Cctv और वीडियो रिकॉर्डिंग करवाई जा रही है, ड्रोन से सर्वे किया जा रहा है. जोर देकर कहा गया है कि नमाज की आड़ में कोई भी गड़बड़ी फैलाने की कोशिश करेगा तो सख्त कार्रवाई की जाएगी.

बातचीत के दौरान एडीजी ने ये भी बताया है कि सोशल मीडिया पर किसी भी धर्म की अमर्यादित टिप्पणी करना पूरी तरह प्रतिबंधित किया गया है. किसी भी निर्दोष पर कार्रवाई ना हो, इस सिलसिले में भी निर्देश जारी किए गए हैं. प्रशांत किशोर के मुताबिक शांति बनाए रखने में उन्हें हर धर्म के गुरुओं से पूरा सहयोग मिल रहा है. बरेली में प्रदर्शन प्रस्तावित था, उसकी तारीख को भी आगे बढ़ा दिया गया है.

इस समय केंद्र सरकार की अग्नीपथ स्कीम को लेकर भी कुछ राज्यों में बवाल की स्थिति है. इस पर प्रशांत किशोर का कहना है कि संवाद से समाधान निकालने पर जोर दिया जा रहा है. फिलहाल कही कोई गड़बड़ी या प्रदर्शन की सूचना नही है.

वैसे कानपुर में भी पुलिस ने खास तैयारी की है. वहां पर हुई हिंसा को देखते हुए इस बार कड़े इंतजाम किए गए हैं.  सभी प्रमुख चौराहों को पीटीजेड कैमरों से लैस किया गया है. प्रमुख स्थानों पर वाटर कैनन और फायर टेंडर की सुविधा रहने वाली है. बताया जा रहा है कि  9 कंपनी पीएसी के साथ-साथ 4000 पुलिसकर्मी भी तैनात किए जाएंगे. इसके अलावा 7 एसपी, 6 एडिशनल एसपी,14 डिप्टीएसपी, 74 इंस्पेक्टर, 306 उप निरीक्षक ड्यूटी देने वाले हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें