scorecardresearch
 

यूपी: मोर्चरी में मजदूर का शव काट खाए चूहे, बिहार जाते वक्त रास्ते में तोड़ा था दम

मृतक के परिजनों ने स्वास्थ्य विभाग पर लापरवाही के गंभीर आरोप लागए हैं. यही नहीं मृतक का रिश्तेदार परवेज आलम ने अस्पताल पर अपना रोष जताते हुए आगे उच्चाधिकारियों से शिकायत की बात कही है.

प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

  • महाराष्ट्र से बिहार के लिये निकला था प्रवासी मजदूर
  • मजदूर के परिवार वालों ने लगाए अस्पताल पर आरोप

उत्तर प्रदेश के ललितपुर से जिला स्वास्थ विभाग की लापरवाही का मामला सामने आया है. जिला स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही के चलते एक प्रवासी मजदूर का शव पूरी तरह से सड़ गल गया. मृतक के परिजनों का आरोप है कि शव में कीड़े पड़ने की वजह से क्षत-विक्षत हो गया, जिसको लेकर मृतक के परिजनों ने स्वास्थ्य विभाग पर गंभीर आरोप लगाये हैं.

दरअसल, कुछ दिन पहले ही बिहार के लिये जाने वाला प्रवासी मजदूर महाराष्ट्र से चलकर ललितपुर जिला पहुंचे था. तभी अचानक उसकी तबीयत खराब हो गई जिसके चलते अस्पताल में भर्ती कराया गया. जहां उसकी इलाज के दौरान मौत हो गई. मृतक मजदूर का नाम नसीमुद्दीन बताया जा रहा है जिसकी उम्र 58 साल थी.

मजदूर की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत होने पर जिला स्वास्थ्य विभाग ने शव को कब्जे मे लेकर जिला अस्पताल के मोर्चरी में रखवा दिया. साथ ही शव से कोरोना वायरस (कोविड 19) जांच के लिए सैम्पल लेकर जांच के लिए भेज दिया.

अमेरिका में पढ़ रहे हजारों चीनी छात्रों को बाहर निकालने की तैयारी

जब मृतक की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आई अस्पताल प्रशासन ने मृतक के परिजनों को ले जाने के लिए कह दिया. लेकिन जब मृतक के परिजनों ने शव को देखा तो उनके पैरों के नीचे से जमीन खिसक गई. मृतक का शव पूरी तरह से सड़ गल गया था साथ ही डीप फ्रीजर में रखे जाने के बावजूद शव में कीड़े पड़ गये थे और जगह जगह शव को कीड़े और चूहे आदि से कुतरने के निशान थे. जिस पर मृतक के परिजनों ने स्वास्थ्य विभाग पर लापरवाही के गंभीर आरोप लागए हैं. यही नहीं मृतक का रिश्तेदार परवेज आलम ने अस्पताल पर रोष जताते हुए आगे उच्चाधिकारियों से शिकायत की बात कही है.

चीन के साथ तनाव के बीच वायुसेना का चिनूक हेलिकॉप्टर असम में तैनात

वहीं, शव के रखरखाव में बरती गई लापरवाही और सड़ जाने के मामले में जब ललितपुर CMO डॉ. प्रताप सिंह से बात की गई तो वह जिला अस्पताल की लापरवाही पर पर्दा डालते नजर आए. साथ ही उन्होंने बताया कि जिला अस्पताल की मोर्चरी के फ्रीजर में शव को रखवाया गया था.

फ्रीजर सही था लेकिन जैसे ही कल पता चला मोर्चरी का फ्रीजर खराब हुआ है तो तत्काल शव को पोस्टमॉर्टम हाउस के फ्रीजर में रखवाया गया था लेकिन इसके वावजूद भी शव सड़ा और क्षत-विक्षत हुआ है. यह जांच का विषय है जिसकी जांच उनके द्वारा करवाई जायेगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें