scorecardresearch
 

कानपुर कांडः अमर दुबे की पत्नी को रिहा करेगी पुलिस, मुकदमा होगा वापस

अमर दुबे की पत्नी की गिरफ्तारी को लेकर सोशल मीडिया पर यूपी पुलिस की खूब फजीहत हो रही थी. क्योंकि 29 जून को ही उसकी शादी हुई थी, उसके तीन दिन बाद ही कानपुर में पुलिस हत्याकांड हो गया था और वो भगकर अपने मायके चली गई थी.

X
विकास दुबे के साथ अमर दुबे (फाइल फोटो) विकास दुबे के साथ अमर दुबे (फाइल फोटो)

  • यूपी पुलिस ने अमर दुबे की पत्नी को छोड़ा
  • घटना से तीन दिन पहले ही हुई थी शादी
  • सोशल मीडिया पर हो रही थी फजीहत

विकास दुबे का जिस तरह से एनकाउंटर किया गया, उसको लेकर तो काफी सारे सवाल उठ ही रहे हैं. साथ ही अमर दुबे की पत्नी की गिरफ्तारी को लेकर भी सोशल मीडिया पर यूपी पुलिस की खूब फजीहत हो रही थी. सोशल मीडिया पर किरकिरी के बाद कानपुर पुलिस अब अमर दुबे की पत्नी को रिहा करेगी.

अमर दुबे की पत्नी के खिलाफ बिकरू कांड में संलिप्तता के आरोप में दर्ज मुकदमा भी वापस लिया जाएगा. पुलिस के मुताबिक कोर्ट खुलते ही 169 की रिपोर्ट भेजी जाएगी. वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) दिनेश कुमार ने विवेचक को 169 की रिपोर्ट भेज कर जेल से रिहा कराने के आदेश दे दिए हैं.

अमर दुबे, गैंगस्टर विकास दुबे का सहयोगी था. जिसे पुलिस ने हमीरपुर जिले में बुधवार को मार गिराया था. अमर दुबे को विकास दुबे का दाहिना हाथ माना जाता था. अमर दुबे की शादी उसके एनकाउंटर से नौ दिन पहले 29 जून को ही हुई थी. अमर की शादी को अभी तीन दिन ही हुए थे कि बिकरू कांड हो गया था.

बिकरू कांड के बाद अमर की पत्नी खुशी भागकर अपने मायके चली गई थी. पुलिस ने उस पर भी इस जघन्य कांड में संलिप्तता का आरोप लगा मामला दर्ज किया था. खुशी को पुलिस ने गिरफ्तार भी कर लिया था. महज तीन दिन पहले ब्याह कर आई नवविवाहिता पर हत्याकांड में संलिप्तता का आरोप किसी के गले नहीं उतर रहा था. लोग उसके खिलाफ दर्ज मुकदमा वापस लेने और उसे रिहा करने की मांग कर रहे थे.

गौरतलब है कि अमर दुबे, कानपुर में पुलिसवालों की हत्या के मामले में मुख्य आरोपी विकास दुबे का सबसे करीबी था और हत्याकांड के वांछित अभियुक्तों के वायरल पोस्टर में अमर दुबे का नाम पहले नंबर पर था. एसटीएफ और हमीरपुर पुलिस ने बुधवार सुबह मौदाहा में उसका एनकाउंटर कर दिया था.

कानपुर गोलीकांड: गिरफ्तार एसआई केके शर्मा की SC में अर्जी, CBI जांच की मांग

हमीरपुर के एसपी श्लोक कुमार का कहना है कि अमर दुबे की सूचना पर पुलिस टीम ने घेराबंदी की. इस दौरान अमर ने फायरिंग शुरू कर दी. जवाबी एनकाउंटर में वह मार गिराया गया. उसके पास से एक ऑटोमेटिक हथियार और बैग मिले हैं. इस एनकाउंटर में एसओ और एसटीएफ के एक कॉन्स्टेबल को गोली लगी है.

बस से उज्जैन, ऑटो से महाकाल मंदिर... ऐसे MP पहुंचा गैंगस्टर विकास दुबे

फरीदाबाद में रहने वाले विकास दुबे के रिश्तेदार ने बताया है कि अमर दुबे के साथ विकास दुबे का झगड़ा हुआ था. अमर ने विकास से फोन पर बात करते हुए कहा था कि उसने, उसकी जिंदगी बर्बाद कर दी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें