scorecardresearch
 

आजतक इम्पैक्ट: UP के सिद्धार्थनगर में 20 लोगों को वैक्सीन की दूसरी डोज अलग कंपनी की देने पर ANM सस्पेंड, डॉक्टर्स पर भी एक्शन

इस खबर को जब आजतक ने प्रमुखता से दिखाया तब जाकर प्रशासन सक्रिय हुआ और अब ANM  को सस्पेंड कर दिया गया है. इस मामले में बड़ी लापरवाही सामने आई है, ऐसे में हर उस डॉक्टर के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी जिन्होंने गांव वालों को वैक्सीन लगाई थी. 

X
UP में 20 लोगों को अलग डोज देने पर ANM सस्पेंड UP में 20 लोगों को अलग डोज देने पर ANM सस्पेंड
स्टोरी हाइलाइट्स
  • यूपी के गांव में हुआ था वैक्सीन का कॉकटेल
  • आजतक की खबर के बाद कार्रवाई
  • ANM को किया गया सस्पेंड

उत्तर प्रदेश के सिद्धार्थ नगर इलाके में एक चौंकाने वाली घटना देखने को मिली थी. वहां के औदहीं कला नाम के गांव में 20 लोगों को कोरोना की पहली वैक्सीन कोविशील्ड की लगाई गई थी, वहीं दूसरी डोज में कोवैक्सीन लगा दी गई. इस खबर को जब आजतक ने प्रमुखता से दिखाया तब जाकर प्रशासन सक्रिय हुआ और अब ANM  को सस्पेंड कर दिया गया है. इस मामले में बड़ी लापरवाही सामने आई है, ऐसे में हर उस डॉक्टर के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी जिन्होंने गांव वालों को वैक्सीन लगाई थी. 

कोरोना वैक्सीन का हुआ था कॉकटेल, ANM सस्पेंड

बता दें कि एक अप्रैल को औदहीं कला गांव में 150 लोगों को वैक्सीन लगी थी. तब दूसरी डोज के लिए 20 लोगों को 14 मई की तारीख दी गई थी. अब पहली डोज तो सभी को कोविशील्ड की लगा दी गई, लेकिन बाद में क्योंकि सरकारी केंद्र में कोवैक्सीन का स्टॉक आया, इसलिए उन 20 जनों को कोवैक्सीन लगा दी गई. ऐसे में कोरोना वैक्सीन का कॉकटेल बना दिया गया और गांव वालों की जिंदगी के साथ खिलवाड़ हुआ.

केंद्र ने घटना पर क्या बोला था?

ये अलग बात है कि इस घटना के बाद केंद्र सरकार की तरफ से कहा गया है कि दो अलग-अलग वैक्सीन लगने से कोई दिक्कत नहीं होने वाली है, लेकिन सरकार ने भी साफ कहा है कि उनके तय नियमों के मुताबिक किसी भी शख्स को एक ही कंपनी की वैक्सीन दोनों बार लगानी है. ऐसे में सिद्धार्थ नगर की इस घटना ने प्रशासन पर कई तरह के सवाल उठा दिए और कड़ी कार्रवाई की भी मांग हुई.

अब आजतक की खबर के बाद ANM  को सस्सपेंड किया गया है और दूसरे दोषियों के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई की बात कही जा रही है. वैसे इलाके के डीएम की तरफ से इस बात पर भी जोर दिया गया है कि पूरे महकमे को एक घटना के दम पर बदनाम ना किया जाए. वहीं इस घटना को लेकर जानकारी दी गई है कि सभी लोगों की सेहत को मॉनिटर किया जा रहा है और अभी तक किसी में कोई साइड इफेक्ट देखने को नहीं मिले हैं.

जिनको लगी वैक्सीन, कैसी है सेहत?

वैसे जब सिद्धार्थ नगर के गांव वालों से भी बातचीत की गई तो बताया गया कि कोविशील्ड लगवाने के बाद जरूर सभी को बुखार आया था, लेकिन कोवैक्सीन के बाद किसी में कोई लक्षण देखने को नहीं मिले. दावा किया गया कि सभी गांव वाले स्वस्थ हैं. अब एक बार के लिए ग्रामीण इलाके के लोगों के लिए कोरोना वैक्सीन का कॉकटेल कोई बड़ा मुद्दा नहीं है, लेकिन क्योंकि अभी इस मुद्दे पर रिसर्च जारी है, ऐसे में किसी के साथ ऐसा करना उसकी जिंदगी के साथ खिलवाड़ करने जैसा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें