scorecardresearch
 

यूपी का अब तक का सबसे बड़ा बजट, अखिलेश यादव का तंज- विदाई बजट रुला गया

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी का यह विदाई बजट सबको रुला गया. उन्होंने यह ट्वीट 'नहीं चाहिए भाजपा' हैशटैग के साथ किया है.

यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (फोटोः पीटीआई) यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (फोटोः पीटीआई)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पूर्व सीएम ने ट्वीट कर किया तंज
  • कहा- खाली रह गए सबके हाथ

उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली सरकार ने 22 फरवरी को वित्तीय वर्ष 2021-22 का बजट पेश किया. यूपी सरकार ने करीब 5 लाख 50 हजार करोड़ रुपये से भी अधिक का बजट पेश किया. अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं, ऐसे में योगी सरकार ने बजट को लोकलुभावन बनाने के लिए कई ऐलान किए हैं.

यूपी की योगी सरकार के बजट पर पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने तंज किया है. अखिलेश यादव ने ट्वीट कर योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली सरकार की ओर से पेश बजट पर तंज किया है. पूर्व सीएम अखिलेश ने कहा है कि पेपरलेस बजट में किसान, मजदूर, युवा, नारी और कारोबारी किसी के भी हाथ कुछ नहीं आया. सबके हाथ खाली रह गए.

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) का यह विदाई बजट सबको रुला गया. यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री और विपक्षी समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने यह ट्वीट 'नहीं चाहिए भाजपा' हैशटैग के साथ किया है. गौरतलब है कि यूपी में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं. ऐसे में ये बजट, योगी सरकार के इस कार्यकाल का अंतिम बजट माना जा रहा है.

बता दें कि योगी सरकार ने इसबार 5 लाख 50 हजार करोड़ रुपये से भी अधिक का पेपरलेस बजट पेश किया. यह यूपी का अब तक का सबसे बड़ा बजट है. सीएम योगी आदित्यनाथ ने बजट की तारीफ करते हुए ट्वीट कर कहा था कि वैश्विक महामारी कोरोना की त्रासदी के बीच यह बजट आशा, ऊर्जा और यूपी की नई संभावनाओं को नई उड़ान देता है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें