scorecardresearch
 

UP: ATS ने मानव तस्कर को किया गिरफ्तार, जेल में बंद रोहिंग्या-बंग्लादेशी नागरिकों की करवाता था जमानत

यूपी एटीएस ने लखनऊ रेलवे स्टेशन से मोहम्मद रफीक उर्फ रफीक उल इस्लाम को गिरफ्तार किया है. वह म्यांमार का रहने वाला है. लेकिन अवैध तरीके से बॉर्डर पार कर पश्चिम बंगाल के नदिया जिले में रह रहा था. उसने फर्जी दस्तावेजों से भारत की नागरिकता हासिल की.

X
यूपी एटीएस ने लखनऊ रेलवे स्टेशन से मोहम्मद रफीक को किया गिरफ्तार
यूपी एटीएस ने लखनऊ रेलवे स्टेशन से मोहम्मद रफीक को किया गिरफ्तार
स्टोरी हाइलाइट्स
  • लखनऊ रेलवे स्टेशन से गिरफ्तार हुआ रफीक
  • जेलों में बंद रोहिंग्याओं की जमानत करवाता था रफीक

यूपी एटीएस ने बांग्लादेशी नागरिकों और रोहिंग्या को जाली दस्तावेजों से भारतीय नागरिकता दिलाने और मानव तस्करी रैकेट से जुड़े सक्रिय सदस्य को गिरफ्तार किया है. यूपी एटीएस ने लखनऊ रेलवे स्टेशन से मोहम्मद रफीक को गिरफ्तार किया है. रफीक यूपी की जेलों में बंद रोहिंग्याओं की जमानत करवाता था. 

यूपी एटीएस ने लखनऊ रेलवे स्टेशन से मोहम्मद रफीक उर्फ रफीक उल इस्लाम को गिरफ्तार किया है. वह म्यांमार का रहने वाला है. लेकिन अवैध तरीके से बॉर्डर पार कर पश्चिम बंगाल के नदिया जिले में रह रहा था. उसने फर्जी दस्तावेजों से भारत की नागरिकता हासिल की. 

इसके बाद से रफीक हैदराबाद की मीट फैक्ट्री में काम कर रहा था. यहां वह रफीक मोहम्मद नूर के संपर्क में आया. इसके बाद रफीक यूपी और अन्य राज्यो की जेलों में बंद रोहिंग्याओं की जमानत कराने लगा. आरोप है कि रफीक जेल में बंद रोहिंग्या नागरिक के परिजनों से पैसा लेकर वकील की मदद से जमानत करवाता था. 

रफीक को हर जमानत के लिए 15 हजार से 20000 रुपये मिले थे. जमानत करवाने के दौरान रफीक भारत में मानव तस्करी के सिंडीकेट से भी जुड़ गया. रफीक का संपर्क त्रिपुरा में मानव तस्करी के सिंडीकेट से जुड़े बप्पन से हुआ. रफीक 21 फरवरी को बॉर्डर पार कर लाए गए नागरिकों को लेने के लिए त्रिपुरा पहुंचा था. लेकिन उससे पहले ही पुलिस ने उन सभी को गिरफ्तार कर लिया. 

यूपी एटीएस ने पिछले दिनों रोहिंग्या इस्माइल को गिरफ्तार किया था. रफीक उसी का दोस्त है. रफीक 25 फरवरी को लखनऊ में इस्माइल से पेशी पर मिलने पहुंचा था. लेकिन वहां मुलाकात नहीं हो सकी. रफीक लखनऊ जेल में इस्माइल से मिलने वाला था कि उससे पहले यूपी एटीएस ने गिरफ्तार कर लिया. 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें