scorecardresearch
 

अस्पताल से लौटीं स्वाति सिंह ने कहा- टिकट नहीं न्याय चाहिए, नसीमुद्दीन पर लगाओ पोस्को

सेहत बिगड़ने पर 5 दिन तक अस्पताल में भर्ती रही स्वाति सिंह ने रविवार को घर लौटते ही बीएसपी के उन नेताओं के खिलाफ कार्रवाई की मांग की, जिन्होंने उन्हें और उनकी बेटी को गाली दी थी.

स्वाति सिंह स्वाति सिंह

बीएसपी सुप्रीमो मायावती के खिलाफ अपशब्द कहने के आरोप में गिरफ्तार दयाशंकर सिंह की पत्नी स्वाति सिंह ने जंग छेड़ दी है. सेहत बिगड़ने पर 5 दिन तक अस्पताल में भर्ती रही स्वाति सिंह ने रविवार को घर लौटते ही बीएसपी के उन नेताओं के खिलाफ कार्रवाई की मांग की, जिन्होंने उन्हें और उनकी बेटी को गाली दी थी.

'आज तक' से खास बातचीत में स्वाति सिंह ने बताया कि पुलिस ने उनसे गाली-गलौज की सीडी मांगी है. इसे वह सोमवार को सौपेंगी. स्वाति ने रविवार को पुलिस को अपना बयान भी दर्ज कराया. इसमें नसीमुद्दीन समेत उन सभी नेताओं पर पोस्को लगाने की मांग की थी जिन्होंने उन्हें, उनकी बेटी और मां को गाली दी थी.

मैं पति की नहीं अपनी लड़ाई ला रही हूं
स्वाति ने पति दयाशंकर सिंह की गिरफ्तारी के बारे में पूछे जाने पर कहा कि वो अपने पति की लड़ाई नहीं बल्कि अपनी लड़ाई लड़ रही है. पति के मामले में कानून अपना काम कर रहा है. उन्होंने कहा कि मैं ये जरूर चाहती हूं कि प्रशासन ने जितनी तेजी मेरे पति के मामले में दिखाई है, वैसी ही फुर्ती कुछ इधर भी हो जाए. मुझे भी न्याय चाहिए. स्वाति ने कहा कि मेरी पति की मायावती से राजनीतिक लड़ाई थी. उसमें मुझे और मेरी बेटी को घसीटा गया.

टिकट नहीं, हमें न्याय चाहिए
स्वाति ने टिकट की बात कारण वालों को भी आड़े हाथों लिया. उन्होंने कहा कि उन्हें चुनाव में टिकट दिए जाने की बात करने वाले गंभीर मुद्दे को भटकना चाहते हैं. इस मामले में पॉलिटिक्स या टिकट की बात आनी ही नहीं चाहिए. स्वाति ने कहा कि मुझे टिकट नहीं न्याय चाहिए. अगर केशव मौर्य मुझसे अस्पताल में मिलने आए तो लोगों ने इसे टिकट से जोड़ दिया. ऐसे तो मुझसे मिलने आने वालों में सभी दलों के लोग थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें