scorecardresearch
 

स्मृति ने राहुल गांधी की उम्र पर कसा तंज, जेएनयू मामले में समर्थन को बताया दुर्भाग्य

मथुरा में भारतीय जनता युवा मोर्चा के राष्ट्रीय अधिवेशन 'इंडिया फर्स्ट' को संबोधि‍त करते हुए स्मृति ने कहा, 'जिन लोगों ने अफजल गुरु, मकबूल भट्ट, याकूब मेमन का समर्थन किया, ये देश का दुर्भाग्य था कि कुछ राजनीतिक पार्टी के नेताओं ने उनका साथ दिया.'

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी

जेएनयू मामले को लेकर केंद्रीय मानव संसाधन एवं विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने शनिवार को कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर एक बार फिर निशाना साधा. मंत्री ने कहा कि कुछ नेता आतंकियों का समर्थन करने वालों का साथ दे रहे हैं और ये देश का दुर्भाग्य है. यही नहीं, स्मृति बिना नाम लिए राहुल की उम्र को लेकर भी तंज कसा.

मथुरा में भारतीय जनता युवा मोर्चा के राष्ट्रीय अधिवेशन 'इंडिया फर्स्ट' को संबोधि‍त करते हुए स्मृति ने कहा, 'जिन लोगों ने अफजल गुरु, मकबूल भट्ट, याकूब मेमन का समर्थन किया, ये देश का दुर्भाग्य था कि कुछ राजनीतिक पार्टी के नेताओं ने उनका साथ दिया और कहा कि ये अभि‍व्यक्ति‍ की आजादी है.'

कांग्रेस उपाध्यक्ष का नाम लिए बिना स्मृति ने उनकी उम्र पर भी तंज कसा. मंत्री ने कहा , 'एक नेता ऐसे हैं जो अपने आप को नौजवान नेता कहत हैं, लेकिन उनकी उम्र लगभग 50 की हो रही है.'

'माता जी का आशीर्वाद'
स्मृति ईरानी यहीं नहीं रुकीं. उन्होंने आगे कहा, 'एक नेता ऐसे हैं जो 10 साल से सांसद हैं. माता जी का आशीर्वाद रहा सरकार में. लेकिन अपने ही लोकसभा क्षेत्र में विकास नहीं दिखा पाए.'

शाह ने भी किया था हमला
गौरतलब है कि इससे पहले शनिवार को इसी मंच से बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने भी राहुल गांधी और पूर्व की यूपीए सरकार पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि यूपीए सरकार ने देश की तिजोरी में गड्ढा किया. देश का युवा जागरुक है. वह देश की एक इंच जमीन भी देश से अलग नहीं होने देगा.' उन्होंने कहा कि राहुल गांधी के जेएनयू में समर्थन का देश का युवा मुंहतोड़ जवाब देगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×