scorecardresearch
 

रोहतक में बस में लड़कों की पिटाई मामले में लाई डिटेक्‍टर टेस्‍ट में बहनें हुई फेल

दिसंबर 2014 में हरियाणा के रोहतक में सरकारी बस में कथित छेड़छाड़ के बाद लड़कों की पिटाई के मामले की पॉलीग्राफी रिपोर्ट आ गई है. पॉलीग्राफी रिपोर्ट लड़कों पक्ष में आई है.

दिसंबर 2014 में हरियाणा के रोहतक में सरकारी बस में कथित छेड़छाड़ के बाद लड़कों की पिटाई के मामले की पॉलीग्राफी रिपोर्ट आ गई है. पॉलीग्राफी रिपोर्ट लड़कों पक्ष में आई है.

पॉलीग्राफी रिपोर्ट में लड़कियों के पक्ष पर शंका जताई गई है. रिपोर्ट के कुछ अंश इसके आधि‍कारिक तौर पर जारी होने से पहले ही लीक हो गए हैं. लीक रिपोर्ट के आधार पर बताया जा रहा है कि लाई डिटेक्टर टेस्ट के दौरान लड़कों के जवाब जहां पॉजीटिव रहे वहीं, रोहतक की बहनों के जवाब संतुष्ट करने वाले नहीं थे.

अब लीक रिपोर्ट के आधार पर आरोपी पक्ष दावा कर रहा है कि उन्हें पहले से पता था कि लड़के निर्दोष हैं, जबकि लड़कियों के परिवार का कहना है कि पॉलीग्राफ टेस्ट की रिपोर्ट अदालत में कोई महत्व नहीं रखती है. लड़कियों के परिवार का कहना है कि पॉलीग्राफी रिपोर्ट का केस पर भी कोई असर नहीं पड़ेगा.

पुलिस सूत्रों की मानें तो रिपोर्ट केवल एक सप्ताह पहले ही मिली है. इसमें लड़कों का पक्ष मजबूत है, लेकिन लड़कियों के जवाबों पर संदेह किया जा रहा है. पूरे मामले में आरोपी लड़कों के वकील प्रदीप मलिक का कहना है कि हमें पहले से ही पता था कि लड़के निर्दोष हैं और उन पर झूठा केस दर्ज कराया गया है. वहीं, लड़कियों के वकील अतर सिंह का कहना है कि लड़कियों से जो सवाल पूछे गए उनका केस से कोई संबंध नहीं है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें