scorecardresearch
 

Indian Railway: यूपी के इस रेलवे हॉस्पिटल में लगा ऑक्सीजन प्लांट, रेलकर्मियों को मिलेगी सुविधा

Oxygen Plant in Hospital: कोरोना काल में ऑक्सीजन को लेकर जमकर हायतौबा मची. ऐसे में अब कई अन्य अस्पतालों की तरह पूर्व मध्य रेल के दीनदयाल उपाध्याय रेल मंडल अस्पताल में भी ऑक्सीजन प्लांट स्थापित कर दिया गया है. इससे रेलकर्मियों और उनके परिवारों को इलाज में काफी सुविधा मिलेगी.

oxygen plant oxygen plant
स्टोरी हाइलाइट्स
  • रेलवे हॉस्पिटल में लगा ऑक्सीजन प्लांट
  • प्लांट की क्षमता 500 लीटर प्रति मिनट

कोरोना की दूसरी लहर के बीच देश में ऑक्सीजन के लिए मचे हाहाकार को देखते हुए तमाम अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट (Oxygen Plant) स्थापित किए जा रहे हैं. इसी कड़ी में पूर्व मध्य रेल (East central Railway) के दीनदयाल उपाध्याय रेल मंडल अस्पताल में भी ऑक्सीजन प्लांट स्थापित कर दिया गया है. संभावित तीसरी लहर को देखते हुए इस ऑक्सीजन प्लांट की स्थापना कराई गई है. जिसकी क्षमता 500 लीटर प्रति मिनट है.

पीएम केयर्स फंड से स्थापित किए गए इससे जन प्लांट का शुभारंभ केंद्रीय भारी उद्योग मंत्री और चंदौली के सांसद डॉ महेंद्र नाथ पांडे ने किया. रेलवे के मंडलीय अस्पताल में इस ऑक्सीजन प्लांट की स्थापना के बाद रेलकर्मियों को इलाज में काफी सुविधा मिलेगी.

गौरतलब है कि भारतीय रेलवे (Indian Railway) के पूर्व मध्य रेल रूम के अंतर्गत आने वाला दीनदयाल उपाध्याय रेल मंडल एक बहुत ही महत्वपूर्ण रेल मंडल है. इस रेल मंडल में लगभग 15,000 से ज्यादा कर्मचारी और अधिकारी कार्यरत हैं और इन सभी कर्मचारियों और उनके परिजनों के इलाज के लिए दीनदयाल नगर में मंडल रेलवे अस्पताल है. इस अस्पताल में कोरोना के मरीजो के इलाज के लिए भी अलग से स्पेशल वार्ड स्थापित किए गए हैं.

हालांकि इस अस्पताल में पहले से ऑक्सीजन सिलेंडर की व्यवस्था थी लेकिन कोरोना की दूसरी लहर में इस तरह से ऑक्सीजन के लिए हाहाकार मचा.उसको देखते हुए रेल मंत्रालय की तरफ से इस महत्वपूर्ण अस्पताल में 500 लीटर प्रति मिनट क्षमता वाला ऑक्सीजन प्लांट स्थापित कराया गया. जिससे 100 बेड पर ऑक्सीजन की डायरेक्ट सप्लाई की जा सकेगी.

गुरुवार को इस नए ऑक्सीजन प्लांट का शुभारंभ चंदौली के सांसद और केंद्रीय भारी उद्योग मंत्री डॉक्टर महेंद्र नाथ पांडेय ने किया. इस दौरान डॉ महेंद्र पांडेय ने बताया कि इस हॉस्पिटल में पहले कुछ ही बेड पर ऑक्सीजन की सुविधा थी और ऑक्सीजन सिलेंडर द्वारा आपूर्ति की जाती थी.लेकिन आज इस प्लांट के शुभारंभ होने से 500 लीटर प्रति मिनट के उत्पादन की क्षमता से मरीजो को काफी लाभ मिलेगा.उन्होंने आगे बताया कि इस अस्पताल में किसी सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल की तरह हर बेड पर पाइप के माध्यम से ऑक्सीजन की सुविधा उपलब्ध रहेगी.
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें