scorecardresearch
 

रायबरेली: जिला जेल से कैदी फरार, सुबह जब गिनती हुई तो अफसर हैरान

यह पहला मामला नहीं जब किसी जिला जेल से कैदी फरार हुए हों. उत्तर प्रदेश ही नहीं देश के अन्य राज्यों से भी ऐसे मामले सामने आ चुके हैं जब जिला जेल से कैदी चकमा देकर फरार हो जाते हैं और जेल प्रशासन को भनक तक नहीं लग पाती.

रायबरेली की जिला जेल से भागे कैदी (Photo: File) रायबरेली की जिला जेल से भागे कैदी (Photo: File)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • रायबरेली की जिला जेल से भागे कैदी
  • अफसरों को नहीं लग पाई भनक
  • सुबह जब गिनती हुई तो हुआ खुलासा

उत्तर प्रदेश की जेलों से लगातार खबरें सामने आ रही हैं. कभी जेल में किसी कैदी की हत्या हो जाती है तो कभी जेल के कैदियों की आवभगत होती है और कभी-कभी वो भाग जाते हैं. ताजा मामला रायबरेली की जिला जेल का है जहां से दो कैदी फरार हो गए और जेल प्रशासन उन्हें पकड़ ही नहीं पाया.

दरअसल, यह मामला रायबरेली की जिला जेल का है, यहां से दो कैदी भाग गए और इसका पता तब चला जब सुबह कैदियों की गिनती हुई. इन कैदियों में एक रंजीत नाम का कैदी था जिस पर 363, 366, 376 और पॉक्सो एक्ट के मामले हैं और दूसरा शारदा प्रसाद शिवगढ़ का रहने वाला है जिस पर 457, 380, 411 के मुकदमे दर्ज हैं. 

घटना की सूचना मिलते ही आनन-फानन में डीआईजी जेल संजीव त्रिपाठी रायबरेली पहुंचे और जेल में लगे सीसीटीवी फुटेज की जांच भी शुरू कर दी गई. बताया गया है कि जांच की जा रही है और अभी तक हम किसी भी नतीजे पर नहीं पहुंचे कि गलती किसकी है. हालांकि डीआईजी जेल संजीव त्रिपाठी का कहना है कि दोनों की तलाश की जाएगी. 

संजीव त्रिपाठी का कहना है कि 10 नंबर बैरक से सुबह जब गिनती कराई गई तो वहां से 2 कैदी फरार मिले. वे रात को लैट्रिन से ट्रैक हटाकर निकल गए. बाकी इस विषय पर जांच शुरू हो गई है. एक बंदी पॉक्सो एक्ट का है और दूसरा बंदी चोरी का है.

ये भी पढ़ें- अपहरण के बाद किया गया 19 साल की लड़की का रेप, अरेस्ट

बता दें कि यह पहला मामला नहीं जब किसी जिला जेल से कैदी फरार हुए हों. उत्तर प्रदेश ही नहीं देश के अन्य राज्यों से भी ऐसे मामले सामने आ चुके हैं जब जिला जेल से कैदी चकमा देकर फरार हो जाते हैं और जेल प्रशासन को भनक तक नहीं लग पाती.

(रायबरेली से शैलेंद्र प्रताप सिंह की रिपोर्ट)

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें