scorecardresearch
 

यूपी: PFI का मीडिया प्रभारी गिरफ्तार, बाबरी मस्जिद के नाम पर भड़काने का आरोप

मजीद पर बाबरी मस्जिद और आर्टिकल 370 के नाम पर संप्रदाय विशेष को भड़काने का आरोप है. मजीद दिल्ली का रहने वाला है और फिलहाल लखनऊ के काकोरी इलाके में रह रहा था.

PFI का मीडिया प्रभारी गिरफ्तार PFI का मीडिया प्रभारी गिरफ्तार

  • सोशल मीडिया के जरिए धार्मिक तरीके से भड़काने का आरोप
  • मजीद के साथ तीन अन्य लोगों को भी पुलिस ने किया गिरफ्तार

यूपी पुलिस ने लखनऊ पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) के मीडिया प्रभारी अब्दुल मजीद को गिरफ्तार किया है. मजीद पर बाबरी मस्जिद और आर्टिकल 370 के नाम पर संप्रदाय विशेष को भड़काने का आरोप है. मजीद लखनऊ के काकोरी इलाके में रहता था. इसके साथ ही खुर्रम नगर क्षेत्र में लोगों को दीन की पढ़ाई करवाता था. वह मूल रूप से दिल्ली का रहने वाला है.

एसीपी काकोरी सैय्यद मोहम्मद कासिम आब्दी के मुताबिक, मजीद पर सोशल मीडिया के जरिए लोगों को धार्मिक तरीके से भड़काने का आरोप है. एसीपी ने बताया कि यह शख्स बाबरी मस्जिद और अनुच्छेद 370 के मुद्दों को लेकर लगातार लोगों को भड़काने का काम कर रहा था. इसके अलावा इसने मंदिर और कश्मीर को लेकर कई आपत्तिजनक पोस्ट भी की थी. पुलिस ने गिरफ्तार शख्स के पास से कुछ लिटरेचर भी बरामद किया है, जिसे यह सोशल मीडिया पर प्रसारित करता था.

अब्दुल मजीद के साथ तीन अन्य लोगों- अलीम अहमद, साहिबे आलम, कमरुद्दीन की भी गिरफ्तारी की गई है. ये सभी बहराइच के रहने वाले हैं. सभी आरोपी पीएफआई के सक्रिय सदस्य बताए गए हैं. इनके बारे में खुफिया एजेंसियों को इनपुट्स मिले थे, उसी के आधार पर इनकी गिरफ्तारी हुई है.

यूपी: ब्राह्मणों को रिझाने में जुटी पार्टियां, सपा बनवाएगी परशुराम की 108 फीट ऊंची मूर्ति

कासिम आब्दी ने इनकी गिरफ्तारी को लेकर कहा, 'यह व्यक्ति पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया का एक्टिव सदस्य है और पीएफआई का सोशल मीडिया देखता है. ये मंदिर और मस्जिद को लेकर कुछ पोस्ट कर रहा था, इसी वजह से इन्हें गिरफ्तार किया गया है. इनके मोबाइल में बहुत सी ऐसी चीजें मिली हैं जिनके आधार पर कहा जा सकता है कि संबंधित शख्स धार्मिक उन्माद फैला रहा था. इसे गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें