scorecardresearch
 

BJP के खिलाफ सभी पार्टियों को करेंगे एकजुट, ममता, उद्धव, लालू से हुई मुलाकात: ओमप्रकाश राजभर

SBSP के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने सभी एंटी बीजेपी पार्टियों को एक साथ लाने का ऐलान किया है. उन्होंने ममता बनर्जी, उद्धव ठाकरे और लालू यादव से मुलाकात भी की है.

X
ओमप्रकाश राजभर ने बड़ा बयान दिया है फाइल फोटो
ओमप्रकाश राजभर ने बड़ा बयान दिया है फाइल फोटो
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के हैं अध्यक्ष
  • एंटी बीजेपी पार्टियों को एकसाथ लाने की कोशिश

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (SBSP) के अध्यक्ष और विधायक ओमप्रकाश राजभर ने बड़ा बयान दिया है. उत्तर प्रदेश चुनाव में गठबंधन को मन माफिक सफलता न मिलने के बाद राजभर एंटी बीजेपी पार्टियों को एक साथ लाना चाहते हैं. राजभर का कहना है कि वे सभी एंटी बीजेपी पार्टियों को एकसाथ लाएंगे.

ओमप्रकश राजभर ने कहा, ममता बनर्जी, अखिलेश यादव, अरविन्द केजरीवाल, लालू प्रसाद यादव और उद्धव ठाकरे सबको एक साथ लाने की कोशिश होगी. उन्होंने ममता बनर्जी, उद्धव ठाकरे और लालू यादव से मुलाकात की है. अब आगे की चर्चा के बाद इस पर कोई कदम उठाया जाएगा.

2024 चुनाव
उन्होंने कहा कि हम उत्तर प्रदेश में बड़ा गठबंधन बनने जा रहे हैं. बंगाल में ममता जी एंटी हैं. हमहू एंटिए वाले गोले से हैं. उधर बिहार में लालू जी एंटी वाले गोल से हैं. केजरीवाल एंटी वाले गोल हैं. राजस्थान कांग्रेसियों वाले गोल हैं. छत्तीसगढ़ी वाले भी एंटी गोल है उद्धव ठाकरे शरद पवार एंटी वाली गोल है. 

आजम खान मामले पर बोले ओमप्रकाश राजभर
आजम खान मामले पर ओमप्रकाश राजभर कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने भी टिप्पणी किया है कि 4 हफ्ते से जमानत रोकी गई है. यह कानून का मजाक बन रहा है. "जब सैंया है कोतवाल तो काहे का डर" यही वाला हाल हो रहा है. ऐसे में चाहे जितना चाहो उतना मुकदमा लिखते जाओ लेकिन सर्वोच्च न्यायालय है ना उसने अपनी उंगली उठाई है और मामले का संज्ञान लिया है और कहा है कि अगर इसमें सरकार कुछ नहीं करती है तो हम मध्यस्थता करेंगे. आजम खान से मिलने की तैयारी में तो हम हैं, लेकिन अभी उनके वकील से मिलने का समय नहीं लिया है और मैं अन्य कामों में भी फस गया था.

ब्रिज भूषण शरण सिंह द्वारा राज ठाकरे के यूपी आने की रोक पर राजभर ने कहा, एक बार पहले भी भारतीय जनता पार्टी की तरफ से बयान आया था कि हम राकेश टिकैत को यूपी में नहीं होने देंगे, लेकिन वह आए उन्हें कोई रोक नहीं पाया उसी तरह किसी को कोई रोक नहीं सकता,उस बयान में कोई दम नहीं है.

ज्ञानवापी और ताजमहल मामला
ज्ञानवापी और ताजमहल मामले पर उन्होंने कहा, भारतीय जनता पार्टी के लोग कह रहे हैं तो हम कह रहे हैं कि पिछड़े लोगों को आप क्यों नहीं जांच कराते हैं.आप जातियों के लोगों को जांच क्यों नहीं कराते हैं, यह सब सिपाही कब बनेंगे, लेखपाल कब बनेंगे. इसकी जांच क्यों नहीं करवाते. आप बात क्यों नहीं करते हैं. आपकी सरकार वहां से लेकर यहां से डबल इंजन है.

सड़क पर पर्व और त्योहार
उन्होंने कहा कि टीवी पर देखा कि हमारे प्रदेश मुख्यमंत्री का बयान आया है कि हम सड़क पर किसी को पूजा नहीं करने देंगे शायद आप लोग भी देखा होगा मुख्यमंत्री ने कहा है,तो उस समय का इंतजार करिए कावड़ यात्रा आ रही है और सबको पता है वह कहां होती है? सड़क पर ही तो होती है. ऐसा तो है नहीं कि सड़क को खोदकर घर पर उठा ले जाएंगे. इतने दिन से नमाज हो रही है, हम भी तो पूजा करते हैं और सड़क घेरते हैं. दुर्गा मां की पूजा में क्या होता है.

भगवान राम 14 साल जंगल में भटके. ओमप्रकाश राजभर के 14 साल गांव गांव जाकर,शिक्षा, स्वास्थ्य ,रोजगार नौकरी की बात की है. 14 साल हमने सत्ता के लिए नहीं कार्य किया जब सत्ता में मंन्त्री बना तो 18 महीने में छोड़ दिया. 5 साल नहीं 50 साल लगे सामाजिक न्याय की लड़ाई लड़ती रहनी चाहिए. सरकार और सत्ता कोई बड़ी चीज नहीं है वह आती जाती रहती है.

SBSP अध्यक्ष ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, हम प्रदेश में एक समान और फ्री शिक्षा लागू कराने के लिए गांवों में जाएंगे और लोगों को पार्टी के साथ जोड़ेंगे.

राजभर ने यूपी सरकार के परिवहन मंत्री दयाशंकर सिंह से की थी मुलाकात
पिछले दिनों ओमप्रकाश राजभर ने यूपी सरकार के परिवहन मंत्री दयाशंकर सिंह से मुलाकात की. इस मुलाकात के बाद मंत्री दयाशंकर सिंह ने कहा था कि राजभर अपने इलाके से पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे लिंक कट को शुरू कराए जाने के संबंध में एक विधायक के तौर पर मिलने आए थे. उन्होंने कहा था कि इस दौरान कोई भी राजनीतिक चर्चा नहीं हुई.

दयाशंकर सिंह ने कहा था कि इससे पहले भी दूसरे दलों के नेताओं के साथ मेरी मुलाकात होती रही है. बलिया की राजनीति मेलजोल वाली होती है. उन्होंने दावा किया कि वैचारिक तौर पर देखा जाए तो मैंने पहले भी उनकी (ओमप्रकाश राजभर की) पार्टी के वोटर को पार्टी से जोड़ने का काम किया है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें