scorecardresearch
 

गाजियाबाद: जॉब दिलाने के नाम पर की करोड़ों की ठगी, 3 साल बाद आरोपी गिरफ्तार

जॉब दिलाने के नाम पर सैकड़ों लोगों से ठगी करने वाले एक आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. आरोपी 3 साल से पुलिस की गिरफ्त से बच रहा था. आरोपी शख्स करीब 1 करोड़ से ज्यादा रुपये की ठगी कर चुका है. आरोपी की एक महिला सहयोगी भी गिरफ्तार हुई है.

500 से ज्यादा लोगों को लगाया चूना (प्रतीकात्मक तस्वीर) 500 से ज्यादा लोगों को लगाया चूना (प्रतीकात्मक तस्वीर)

  • लगातर नंबर बदल रहा था आरोपी
  • 500 से ज्यादा लोगों को बना चुका था शिकार
  • फेक ईमेल के जरिए भेजता था ऑफर लेटर
दिल्ली में जॉब दिलाने के नाम पर सैकड़ों लोगों से ठगी और करोड़ों का घोटाला करने वाले आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस ने इस घोटाले में 2 लोगों को गिरफ्तार किया है. आरोपियों ने सैकड़ों लोगों से ठगी की और लोगों को करीब एक करोड़ से ज्यादा रुपयों का चूना लगाया.

पुलिस मुख्य आरोपी राहुल को गिरफ्तार करने के लिए 3 साल से कोशिश कर रही थी. वह लगातार भागने में कामयाब हो जाता था. हैवेल्स इंडिया लिमिटेड ने इस मामले में 3 साल पहले शिकायत दर्ज कराई थी.

आरोपी राहुल की मुख्य महिला सहयोगी भी गिरफ्तार हुई है. यह महिला लोगों को अलग-अलग कंपनियों की ओर से फर्जी नौकरियां ऑफर करती थी. महिला कई बड़ी कंपनियों में काम दिलाने का लोगों को सपना दिखाती थी.

लगातार एड्रेस बदल रहा था आरोपी

आरोपी दक्षिण भारत और उत्तर-पूर्वी राज्यों में ठगी की वारदात को अंजाम देते थे, जिससे गिरफ्तारी से बचा जा सके. अलग-अलग कंपनियों की ओर से ईमेल बनाकर लोगों को जॉब के लिए ऑफर लेटर भेजा जाता था और घूमकर लोगों से ठगी की जाती थी.

पशुधन विभाग फर्जीवाड़े में हेड कॉन्स्टेबल पर गिरी गाज, हुआ सस्पेंड

आरोपी गिरफ्तारी से बचने के लिए लगातार पते बदल रहा था. अपने अपने नजदीकी सहयोगियों को भी अपना पता नहीं देता था. इसी वजह से वह लगातार बचने में कामयाब हो रहा था.

फेक इमेल के जरिए ऑफर करता था जॉब

हैवेल्स इंडिया लिमिटेड की ओर से दर्ज कराई गई शिकायत के मुताबिक एक अनजान शख्स लगातार इच्छुक लोगों से जॉब दिलाने के नाम पर धांधली करता था और खुद को कंपनी का कर्मचारी और मैनेजमेंट का हिस्सा बताता था. उसने इसके लिए कई फेक ईमेल आईडी भी बनाई थी.

लगातार नंबर बदल रहा था आरोपी

शिकायत करने वाली कंपनी को अलग-अलग जगहों से धांधली की सूचना मिली थी. आरोपी राहुल देहरादून का रहने वाला है और लगातार मोबाइल नंबर बदल रहा था. पूछताछ में मुख्य आरोपी राहुल कुमार ने कहा कि पहले वह टेलीकॉम सेंटर में काम करता था.

प्लाज्मा डोनेशन के नाम पर दिल्ली के स्पीकर से फर्जीवाड़ा, आरोपी गिरफ्तार

वहीं से उसे अलग-अलग मोबाइल ऐप के बारे में जानकारी मिली. वहीं से वह फर्जी इमेल बनाना भी सीखा. आरोपी की सहयोगियों में से ज्यादातर महिलाएं ही थीं. आरोपी शख्स ने 500 लोगों से ज्यादा लोगों के साथ ठगी की थी.

ऐसे हुई आरोपी की गिरफ्तारी

पुलिस की टेक्निकल एनालिसिस टीम लगातार आरोपी को ट्रेस करने की कोशिश कर रही थी. ट्रायल के दौरान जिन-जिन नंबरों से उसने संपर्क करने की कोशिश की, उनकी ट्रेसिंग की गई. गाजियाबाद के एक घर में आरोपी की लोकेशन ट्रेस की गई. फिर पुलिस ने मौके पर जाकर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने मौके से सभी उपकरण भी बरामद कर लिए. मामले की जांच जारी है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें