scorecardresearch
 

लखनऊ में छोटे भाई को बचाने के लिए सियार से भिड़ गया 8 साल का बच्चा, डंडे से किया मुकाबला

यूपी की राजधानी लखनऊ में अपने छोटे भाई को बचाने के लिए 8 साल का बच्चा सियार (Jackal) से भिड़ गया. बच्चे ने सियार पर तब तक हमला करना जारी रखा, जब तक सियार भाग नहीं गया. इस दौरान बच्चे के चेहरे और गर्दन पर जख्म हो गए हैं. गांव वालों का कहना है कि बच्चे ने बहादुरी से सियार से डटकर मुकाबला किया है.

X
सियार. (Representational image: Getty)
सियार. (Representational image: Getty)

उत्तर प्रदेश के लखनऊ में छोटे भाई की जान बचाने के लिए आठ साल का बच्चा सियार (Jackal) से भिड़ गया. बच्चे ने सियार पर तब तक वार किए, जब तक सियार उसके छोटे भाई को छोड़कर भाग नहीं गया. हालांकि इस हमले में बच्चे के चेहरे व गर्दन पर कई जगह जख्म हो गए हैं. उसे अस्पताल ले जाकर इलाज करवाया गया.

जानकारी के मुताबिक, मलिहाबाद थाना क्षेत्र में बेलवा गांव निवासी राजेंद्र प्रसाद के दो बच्चे गांव के ही प्राइमरी स्कूल में पढ़ते हैं. बड़ा बेटा समीर 8 साल का है और चौथी कक्षा में पढ़ता है. वहीं दूसरा बेटा आर्यन 6 साल का है, वह सेकेंड क्लास में है.

गुरुवार की सुबह दोनों बच्चे घर से स्कूल के लिए निकले थे. इसी दौरान रास्ते में अचानक सियार ने आर्यन पर हमला कर दिया. सियार ने उसे दबोच लिया और चेहरे पर वार करने लगा. यह देखते ही समीर ने डंडे से सियार को मारना शुरू कर दिया और जब तक सियार से भिड़ा रहा, जब तक वह आर्यन को छोड़कर भाग नहीं गया.

गांव के लोग बोले- लात-घूंसों और डंडों से बच्चे ने किया मुकाबला

गांववालों का कहना है कि समीर ने बहादुरी से डटकर सियार का मुकाबला किया. उसने पास में पड़े हुए डंडे को उठाकर लगातार वार किए. डंडे के अलावा लात घूंसो से भी सियार पर वार करता रहा. 

एडीसीपी चिरंजीवी नाथ सिन्हा के मुताबिक, इस मामले को संज्ञान में लिया गया है. हालांकि थाने पर कोई मामला नहीं आया, लेकिन गांव इस मामले की चर्चा हो रही है, जिसको लेकर पुलिस पेट्रोलिंग उस क्षेत्र में बढ़ाई जा रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें