scorecardresearch
 

UP: इटावा में वैक्सीन सर्टिफिकेट के बिना नहीं मिलेगी शराब, दुकानों पर लगे पोस्टर

सैफई में तैनात एसडीएम हेम कुमार सिंह ने अपने क्षेत्र में पुलिस बल के साथ शराब के ठेके, अंग्रेजी शराब की दुकानों पर चेकिंग की. साथ ही उन शराब की दुकानों पर पोस्टर चस्पा करवा दिए. पोस्टरों पर लिखा हुआ है कि लोगों को शराब की बिक्री तभी की जाएगी जब वह अपने कोरोना वैक्सीनेशन का प्रमाण पत्र दिखाएंगे.

X
Etawah: vaccine certificate Etawah: vaccine certificate
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सैफई में तैनात एसडीएम हेम कुमार सिंह ने दिया आदेश
  • कोरोना वैक्सीनेशन का प्रमाण पत्र दिखाने के बाद खरीद सकेंगे शराब
  • शराब की दुकानों पर चस्पा करवाए पोस्टर

उत्तर प्रदेश के इटावा जिले में शराब की दुकानों की ताबड़तोड़ चेकिंग की जा रही है. अलीगढ़ में जहरीली शराब की घटना के बाद पूरी तरह से प्रदेश में प्रशासन और पुलिस एक्टिव हो गई है. जगह-जगह शराब के ठेके और अंग्रेजी शराब की दुकानों पर निरीक्षण करके चेकिंग की जा रही है. 

इसी क्रम में सैफई में तैनात एसडीएम हेम कुमार सिंह ने अपने क्षेत्र में पुलिस बल के साथ शराब के ठेके, अंग्रेजी शराब की दुकानों पर चेकिंग की. साथ ही उन शराब की दुकानों पर पोस्टर चस्पा करवा दिए. पोस्टरों पर लिखा हुआ है कि लोगों को शराब की बिक्री तभी की जाएगी जब वे अपने कोरोना वैक्सीनेशन का प्रमाण पत्र दिखाएंगे. पहले वैक्सीन लगवाएं, उसके बाद शराब खरीदने आएं.

 शराब के ठेके और अंग्रेजी शराब की दुकानों पर निरीक्षण करके चेकिंग की जा रही है
शराब के ठेके और अंग्रेजी शराब की दुकानों पर निरीक्षण करके चेकिंग की जा रही है

एसडीएम ने दुकानदारों को सख्त हिदायत दे दी है कि बिना वैक्सीनेशन का प्रमाण पत्र देखे किसी भी प्रकार की शराब की बिक्री न की जाए. सबसे प्रमुख बात यह है कि देश में मात्र तीन परसेंट वैक्सीनेशन होने के बाद वैक्सीनेशन के टारगेट को बढ़ाने के लिए अब अधिकारी तरह-तरह के हथकंडे अपना रहे हैं. हालांकि, यह बात है कि जिस प्रकार से राजस्व बढ़ाने में शराब की दुकानों का सहयोग रहता है. उसी तरह से प्रदेश में अब वैक्सीनेशन को बढ़ाने के लिए भी शराब की दुकानों का सहारा लिया जा रहा है.

एसडीएम हेम कुमार सिंह ने पुलिस बल के साथ शराब के ठेके और दुकानों पर चेकिंग की.
एसडीएम हेम कुमार सिंह ने पुलिस बल के साथ शराब के ठेके और दुकानों पर चेकिंग की.

दुकानदारों का कहना है कि एसडीएम साहब आए थे. पोस्टर लगवा कर गए हैं. साथ ही यह भी कह गए हैं कि बिना वैक्सीनेशन प्रमाण पत्र के किसी को भी शराब की बिक्री न की जाए. अब हम लोग ज्यादातर लोगों से वैक्सीन लगवाने के लिए कह रहे हैं. कई लोग बिना वैक्सीनेशन के प्रमाण पत्र के भी आए उन्हें हम बिना शराब बिक्री किए वापस लौटा रहे हैं.

आबकारी अधिकारी ने बताया कि शराब की दुकानों के लिए ग्राहकों का वैक्सीनेशन कराना का कोई आधिकारिक आदेश नहीं है. लेकिन सैफई के एसडीएम यदि ऐसा कर रहे हैं तो वह स्वविवेक से कर रहे हैं. वैक्सीनेशन के लिए प्रेरित करना अच्छी बात है लेकिन शराब बिक्री के लिए अनिवार्य नहीं है.

(इनपुट-अमित तिवारी)

और पढ़ें

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें