scorecardresearch
 

कोलकाता CID के अफसरों को BJP कार्यकर्ताओं ने घेरा, बचाने आई अलीगढ़ पुलिस

अलीगढ़ के थाना गांधी पार्क इलाके के गांधी नगर निवासी भाजपा नेता योगेश वार्ष्णेय ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के सिर काटने पर वर्ष 2017 में 11 लाख रुपये के पुरस्कार का ऐलान किया था. योगेश वार्ष्णेय पश्चिम बंगाल के बीरभूम में हनुमान भक्तों की पिटाई किये जाने से नाराज थे.  

अलीगढ़ में BJP कार्यकर्ता के घर तनाव (फोटो-आजतक) अलीगढ़ में BJP कार्यकर्ता के घर तनाव (फोटो-आजतक)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कोलकाता CID के अफसरों को BJP कार्यकर्ताओं ने घेरा
  • महिलाओं के साथ छेड़छाड़ की कोशिश का आरोप
  • ममता के सिर पर 11 लाख के इनाम का मामला

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में बीजेपी कार्यकर्ता को गिरफ्तार करने आई कोलकाता पुलिस को विरोध का सामना करना पड़ा है. स्थानीय बीजेपी कार्यकर्ताओं ने सादी वर्दी में आए कोलकाता पुलिस के CID अफसरों को घेर लिया. बीजेपी कार्यकर्ता योगेश शर्मा के परिवारवालों ने कोलकाता पुलिस पर छेड़छाड़ का आरोप लगाया है. 

मामला इतना बढ़ गया कि तत्काल अलीगढ़ पुलिस को मौके पर पहुंचना पड़ा. अलीगढ़ पुलिस के अधिकारी किसी तरह कोलकाता CID के अफसरों को वहां से सुरक्षित निकालकर ले गए. 

क्या है मामला

अलीगढ़ के थाना गांधी पार्क इलाके के गांधी नगर निवासी भाजपा नेता योगेश वार्ष्णेय ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के सिर काटने पर वर्ष 2017 में 11 लाख रुपये के पुरस्कार का ऐलान किया था. योगेश वार्ष्णेय पश्चिम बंगाल के बीरभूम में हनुमान भक्तों की पिटाई किये जाने से नाराज थे.  

बीजेपी कार्यकर्ता के घर हंगामा (फोटो- आजतक)

योगेश वार्ष्णेय का ये बयान संसद में भी उछला जिसके बाद योगेश के खिलाफ पश्चिम बंगाल में मामला दर्ज हुआ था. कोलकाता पुलिस लगातार योगेश की गिरफ्तारी के प्रयास कर रही थी.  इससे पूर्व भी पश्चिम बंगाल पुलिस योगेश को गिरफ्तार करने आई थी, लेकिन उसको वापस बैरंग लौटना पड़ा था. 

अलीगढ़ में सियासत को याद आ रहे राजा महेंद्र सिंह, हाथरस में खंडहर बन चुकी है विरासत 

शुक्रवार को सिविल ड्रेस में आए CID के अफसर

शुक्रवार को योगेश को गिरफ्तार करने कोलकाता पुलिस के CID अफसर फिर अलीगढ़ आए थे. जैसे ही इसकी जानकारी बीजेपी कार्यकर्ताओं को हुई उन्होंने अफसरों को घेर लिया. दोनों पुलिसवालों पर भाजपा नेताओं ने घर में घुसकर छेड़छाड़ का आरोप लगाया है. 

अलीगढ़ के एमएलसी मानवेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि कोलकाता पुलिस ने बिना कोई जानकारी दिए हमारे कार्यकर्ता योगेश के घर पर जाकर दबिश देने का काम किया. पश्चिम बंगाल से कुछ तथाकथित लोग आए थे जो सिविल ड्रेस में थे.

मानवेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि अभी हम लोगों ने उनके खिलाफ एक तहरीर लिख कर दी है कि उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जाए. क्योंकि उन्होंने जिस प्रकार का व्यवहार घर में बिना जानकारी के घुसकर किया है, अभद्रता की है, छेड़छाड़ और शोषण का प्रयास किया है, यह दुर्भाग्यपूर्ण है. पुलिस अफसरों ने महिलाओं को पकड़कर खींचा. उनके सारे कपड़े हट गए. यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण घटना है. 

CID के अफसरों को सकुशल निकाला गया

अलीगढ़ डीएसपी सिटी-2 मोहसिन खान ने जानकारी देते हुए बताया कि गांधी नगर इलाके में पश्चिम बंगाल की सीआईडी टीम सादा कपड़ों में एक विवेचना के सिलसिले में आई थी. वहां लोगों से टीम की अनबन हो गई थी, जिसके बाद खुद डीएसपी मौके पर पहुंचकर टीम को वहां से सकुशल निकाल लिया गया है. CID टीम द्वारा किसी की भी गिरफ़्तारी नहीं की गई है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें