scorecardresearch
 

कमलेश के घर पहुंचे दिनेश शर्मा का विरोध, नारे लगे तो दरवाजे से लौटे

कमलेश तिवारी के समर्थकों ने उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और मुर्दाबाद के नारे लगाए. लगातार हो रहे विरोध के बीच दिनेश शर्मा को वहां से तुरंत वापस लौटना पड़ा. उन्हें भारी सुरक्षा के बीच पुलिस ने वहां से निकाला.

दिनेश शर्मा (फाइल फोटो) दिनेश शर्मा (फाइल फोटो)

  • कमलेश तिवारी के परिजनों से मिलने गए थे दिनेश शर्मा
  • दिनेश शर्मा के खिलाफ जमकर हुई नारेबाजी
  • विरोध के बीच दिनेश शर्मा को वापस लौटना पड़ा

हिंदू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी की गला रेतकर हत्या मामले में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के डीजीपी और प्रमुख सचिव से रिपोर्ट मांगी है. इस बीच प्रदेश के उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा कमलेश तिवारी के परिजनों से मिलने उनके घर पहुंचे, लेकिन उन्हें विरोध का सामना करना पड़ा.

कमलेश तिवारी के समर्थकों ने उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और मुर्दाबाद के नारे लगाए. लगातार हो रहे विरोध के बीच दिनेश शर्मा को वहां से तुरंत वापस लौटना पड़ा. उन्हें भारी सुरक्षा के बीच पुलिस ने वहां से निकाला.

वहां से निकलने के बाद दिनेश शर्मा ने कहा कि कमलेश तिवारी के परिवार की जो मांग है उन्हें पूरा किया जाएगा. सुरक्षा, मुआवजा दोनों दिया जाएगा. अधिकारियों को जल्द हत्यारों को गिरफ्तार करने के निर्देश दिए गए हैं. पुलिस प्रशासन अपना काम कर रहा है. वहीं, कमलेश तिवारी की पत्नी ने सिर कलम करने पर ईनाम देने वाले बिजनौर के मुफ्ती के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है.

क्या बोले डीजीपी ओपी सिंह?

हत्याकांड पर यूपी के डीजीपी ओपी सिंह ने कहा कि हिंदू महासभा के पूर्व नेता कमलेश तिवारी की शुक्रवार को हत्या कर दी गई. उन्होंने हिंदू समाज पार्टी की स्थापना की थी. अभियुक्त कमलेश तिवारी को जानते थे. वे मिठाई लाए और लगभग आधे घंटे तक उनके साथ रहे. हमें सुराग मिले हैं और मामले की जांच की जा रही है.

ISIS आतंकियों के निशाने पर थे कमलेश तिवारी, सूरत से निकला ये कनेक्शन

मामले की जांच के लिए SIT का गठन

वहीं कमलेश तिवारी हत्याकांड की जांच के लिए स्पेशल इंवेस्टिगेशन टीम (SIT) का गठन किया गया है. जिसमें लखनऊ के आईजी एसके भगत, लखनऊ के क्राइम एसपी दिनेश पुरी और एसटीएफ के डिप्टी एसपी पीके मिश्रा को शामिल किया गया है. जो इस मामले की जांच करेंगे.

सूरत से लिया गया था मिठाई का डिब्बा

भगवा कपड़े पहने हमलावर मिठाई के डिब्बे में चाकू, कट्टा लेकर आए खुर्शीद बाग इलाके में स्थित तिवारी के दफ्तर में मिलने आए थे. जांच में पता चला कि कमलेश तिवारी हत्याकांड में इस्तेमाल मिठाई का डिब्बा 16 अक्टूबर को सूरत की मिठाई के दुकान से खरीदा गया था. पुलिस मामले में आतंकी कनेक्शन की जांच में जुटी है.

कमलेश तिवारी संग चाय पी, दही बड़े खाए फिर नौकर को बाहर भेजकर रेत दिया गला

सीसीटीवी फुटेज में दो युवकों के साथ दिखाई ही युवती

सीसीटीवी कैमरे में कैद वारदात के मुताबिक हमलावरों ने कमलेश तिवारी की ठोड़ी और सीने में चाकू से 15 से ज्यादा वार किए. वहीं अब यह बात भी सामने आ रही है कि सीसीटीवी फुटेज में दो हमलावरों के साथ एक युवती भी दिखाई दे रही है. बता दें कि वारदात को अंजाम देने के बाद हमलावर मौके से फरार हो गए थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें